संसद सत्र के लिए सरकार ने मांगा कांग्रेस का सहयोग, गुलाम नबी आजाद से की मुलाकात

News State Bureau  |   Updated On : June 06, 2019 09:47:41 AM

(Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  संसद सत्र को सुचारू रुप से चलाने के विपक्षी दलों का सहयोग
  •  मंत्रियों ने की गुलाम नबी आजाद से मुलाकात
  •  16 जून को होगी सर्वदलीय बैठक

नई दिल्ली:  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नई सरकार का गठन होने के बाद 17 जून से संसद सत्र का शुरू हो रहा है. ऐसे में संसद को सुचारू रूप से चलान के लिए सरकार ने विपक्षी दलों का सहयोग मांगा है. इसके तहत तीन मंत्रियों ने ईद के मौके पर गुलाम नबी आजाद से मुलाकात भी की है. सूत्रों के मुताबिक, संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने अपने मंत्रालय के दो राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और वी मुलीधरन के साथ गुलामनबी आजाद से उनके आवास पर मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने ईद की बधाई दी और संसद संत्र के लिए सहयोग देने की बात की.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक संसद संत्र शुरू होने के एक दिन पहले यानी 16 जून को सरकार ने सर्वदलीय बैठक बुलाई है जिसमें संसद सत्र को सुचारू रूप से चलान के लिए सभी दलों से सहयोग मांगा जाएगा. इसके बाद संसद सत्र शुरू होने के बाद, 17 और 18 जून को नए सांसद शपथ लेंगे और 19 जून को स्पीकर का चुनाव होगा. इसके बाद 20 जून को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद संसद की दोनों सदनों को संयुक्त बैठक में संबोधित करेंगे. बता दें संसद सत्र 17 से 26 जुलाई तक चलेगा. इस बीच 5 जुलाई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करेंगी. इससे पहले आर्थिक सर्वेक्षण (Economic Survey) 4 जुलाई को पेश हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक जुलाई में पेश होने वाले बजट में टैक्स स्लैब में कोई भी बदलाव की संभावना नहीं है. गौरतलब है कि निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को वित्त मंत्रालय का कार्यभार संभाला है. अनुराग ठाकुर को वित्त राज्य मंत्री बनाया गया है. बता दें इसी साल 1 फरवरी को पियुष गोयल ने अतंरिम बजट पेश किया था.

वहीं दूसरी तरफ स्पीकर का चुनाव 19 जून को होगा. यानी 19 जून से पहले मोदी सरकार को प्रोटेम स्पीकर पर भी नाम तय करना होगा. फिलहाल इसके लिए मेनका गांधी के नाम पर भी कयास लगाए जा रहे हैं.

First Published: Jun 06, 2019 09:47:37 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो