BREAKING NEWS
  • मुश्ताक अहमद बोले- भारत-पाकिस्तान के बीच संबंधों को सुधारने के लिए करना चाहिए ये काम- Read More »
  • अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला मुसलमानों को स्वीकार करना चाहिए: VHP- Read More »
  • Today History: आज ही के दिन WHO ने एशिया के चेचक मुक्त होने की घोषणा की थी, जानें आज का इतिहास- Read More »

पहले अपने जांघ फिर बाजू में मारी गाेली, इसके बाद बुला ली पुलिस, जानें क्‍यों

अवनीश चौधरी  |   Updated On : August 25, 2019 06:01:48 PM
प्रतिकात्‍मक तस्‍वीर

प्रतिकात्‍मक तस्‍वीर (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

किराए के ₹2 लाख से ज्यादा पेंडिंग होने पर पीजी चलाने वाले एक युवक ने मकान मालिक को हत्या की कोशिश के केस में फंसाने की खौफनाक साजिश रच डाली. इसके लिए उसने अपनी खुद की जान को खतरे में डाल दिया. अपनी जांघ और बाजू में एक–एक गोली मारकर दोस्त के जरिए पीसीआर को सूचना दी कि उसका मकान मालिक उस पर गोलियां बरसा कर गया है. यह अलग बात है कि पुलिस ने मामले की जांच की तो घायल शिकायती को खुद अस्पताल से भागना पड़ गया.

बाद में पुलिस ने न सिर्फ शिकायती, बल्कि उसके भाई को भी साजिश में शामिल होने के आरोप में अरेस्ट कर लिया. दोनों के खिलाफ पुलिस को झूठी सूचना देने का मुकदमा आईपीसी की धारा 182 के तहत दर्ज किया गया है.

यह भी पढ़ेंः इंग्‍लैंड की महिला क्रिकेटर सारा टेलर ने Nude होकर की 'बल्‍लेबाजी', तस्‍वीरें Viral

डीसीपी चिन्मय बिसवाल ने बताया कि वारदात की सूचना 22 अगस्त की शाम को मिली थी. पुलिस मौके पर पहुंची तो घायल को अस्पताल ले जाए जा चुका था. उसकी पहचान गुरुग्राम के रहने वाले 20 साल के सुमित के तौर पर हुई. सुमित अमर कॉलोनी इलाके में पीजी चलाता है. उसके दोस्त ने पीसीआर कॉल की थी. हमले का आरोप अपने मकान मालिक विकी पर लगाया. अमर कॉलोनी पुलिस ने उसके बयान पर हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज कर लिया.

यह भी पढ़ेंःदफ्तर में राजनीतिक बातें करने वाले सावधान, जा सकती है नौकरी, Google ने जारी किया फरमान

केस की जांच के चलते पुलिस को सुमित के बयानों में विरोधाभास नजर आया. उसका किसी और कॉल करते ही क्राइम spot से खुद हॉस्पिटल जाना और आसपास के सीसीटीवी फुटेज से पुलिस को उस पर शक बढ़ता गया. जब सुमित को लगने लगा कि अब वह अपने जाल में खुद ही फंस चुका है, तो वह हॉस्पिटल से फरार हो गया. पुलिस ने उसे शास्त्री नगर में उसकी बहन के घर से गिरफ्तार किया.

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान को मुस्लिम देशों ने भी दिखाया ठेंगा, जम्मू-कश्मीर पर ज्यादातर तटस्थ 

आरोपी सुमित भड़ाना के साथ-साथ उसके भाई नवीन को भी आरेस्ट कर लिया. दोनों भाइयों ने बताया कि पीजी वाली बिल्डिंग का किराया करीब ₹2 लाख रुपए पेंडिंग हो गया था, जिस वजह से उनकी विक्की से कई बार बहस भी हो चुकी थी. इसलिए उसने विक्की को फंसाने की साजिश रची.

यह भी पढ़ेंः पीएम नरेंद्र मोदी के साथ देखें चंद्रयान-2 की लैंडिग, बस आप इतना कर लें

खुद की जांघ और हाथ में गोली मारकर दोस्त के जरिए पुलिस को कॉल करवाई. उसके बाद अपने भाई को हथियार देकर वहां से भेज दिया. उसने बातचीत के लिए मकान मालिक विकी को भी क्राइम स्पॉट पर बुलाया था, ताकि उस पर गोलियां मारने का इल्जाम मढ़ सके. विकी वहां से बातचीत करके चला गया था.

यह भी पढ़ेंः Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme: पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम का अगर नहीं मिला पैसा तो ये करें

पुलिस ने दोनों भाइयों से पूछताछ के चलते वह देसी पिस्तौल भी रिकवर कर ली जिससे सुमित ने खुद को गोली मारी थी. वारदात में इस्तेमाल स्कूटी भी रिकवर की गई है. दोनों के खिलाफ पुलिस को झूठी सूचना देने का मुकदमा आईपीसी की धारा 182 के तहत दर्ज किया गया है.

First Published: Aug 25, 2019 06:01:48 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो