दावोस में इमरान खान से मुलाकात के बाद बोले डोनाल्ड ट्रंप- कश्मीर पर मदद के लिए तैयार हैं

News State Bureau  |   Updated On : January 21, 2020 11:16:08 PM
पाकिस्तान के पीएम इमरान खान और यूएस के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान और यूएस के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

नई दिल्‍ली :  

दावोस में मंगलवार देर रात अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) से मुलाकात की है. इस दौरान दोनों ही शीर्ष नेताओं ने कई अहम मुद्दों पर बात की है. वहीं, पाक मीडिया के हवाले से इमरान खान ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर पुराना राग अलापा है, जिस पर अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि कश्मीर पर मदद के लिए तैयार है. 

यह भी पढ़ेंःसुप्रीम कोर्ट कल CAA के समर्थन और विरोध में 140 याचिकाओं पर करेगा सुनवाई

स्विट्जरलैंड के दावोस में यूएस के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की मुलाकात हुई है. वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम (डब्ल्यूईएफ) से इतर दोनों नेताओं की यह मुलाकात हुई है. इस दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि हम भारत और पाकिस्तान के संबंध में कश्मीर को लेकर सोच रहे हैं और अगर हम मदद कर सकते हैं तो निश्चित रूप से ऐसा करेंगे.

डब्लूईएफ से इतर मीटिंग में दोनों नेताओं ने अमेरिका और पाकिस्तान के बीच संबंधों को बढ़ाने पर सहमति जताई है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम इमरान खान ने परस्पर हित, क्षेत्रीय सुरक्षा, कश्मीर और अफगानिस्तान शांति प्रक्रिया पर भी बात की. मीटिंग में इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान शुरू से अपने क्षेत्र में शांति बहाल करने का हिमायती रहा है और इस संदर्भ में बराबर कोशिश भी जारी है. पीएम इमरान खान ने कहा कि समूचे क्षेत्र में अपनी अहम भूमिका निभाने में वह हमेशा तत्पर रहेगा.

यह भी पढ़ेंःझारखंड के CM हेमंत सोरेन की घोषणा- सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर रहेगा सार्वजनिक अवकाश

इसके बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि इमरान खान उनके अच्छे मित्र हैं. दोनों नेताओं की इस बैठक से पहले ही राष्ट्रपति ट्रंप ने बताया था कि कश्मीर मुद्दे और अफगान शांति प्रक्रिया पर व्यापक बातचीत की जाएगी. दावोस के इस सम्मेलन में कई देशों के राष्ट्राध्यक्ष पहुंचे हैं. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और इमरान खान की मुलाकात भी इसी सम्मेलन से इतर हुई है.

यह पहला मौका नहीं है जब  ट्रंप ने कश्मीर पर अपनी राय रखी है. पिछले साल अगस्त में डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि भारत अगर चाहेगा तो वे कश्मीर मामले में मध्यस्थता करने के लिए तैयार हैं, लेकिन बाद में उन्होंने कहा कि इस मामले को भारत और पाकिस्तान को द्विपक्षीय स्तर पर सुलझाना चाहिए. इस मुद्दे पर काफी चर्चा हुई और इस पर भारत ने कड़ा प्रतिवाद किया. भारत शुरू से कहता रहा है कि कश्मीर मुद्दा पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय है और इस पर तीसरे देश की दखलंदाजी उसे कतई पसंद नहीं है.

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, इस वर्ष डब्ल्यूईएफ की 50वीं वर्षगांठ है, जो गुरुवार तक चलेगा. जुलाई 2019 में इमारन खान की वाशिंगटन यात्रा के बाद से ट्रंप के साथ उनकी बैठक पाकिस्तान और अमेरिकी नेताओं के बीच तीसरी नेतृत्व-स्तरीय बातचीत होगी. डब्ल्यूईएफ के संस्थापक और कार्यकारी अध्यक्ष प्रोफेसर क्लॉस श्वाब के निमंत्रण पर शामिल हुए इमरान खान डब्ल्यूईएफ के विशेष सत्र को भी संबोधित करेंगे और पाकिस्तान रणनीति संवाद में कॉर्पोरेट लीडर संग बातचीत करेंगे. 

First Published: Jan 21, 2020 10:54:31 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो