एच-1बी पर अमेरिका-भारत में टकराव की संभावना

नए राष्ट्रपति बने डोनाल्ड ट्रंप ने आंतकवाद पर दोहरी पॉलिसी को लेकर सख्त रवैया अपनाने का संकेत दिया है।

News State Bureau  |   Updated On : November 12, 2016 03:03 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

नई दिल्ली:  

अमेरिका मे बदली सत्ता का प्रभाव भारत पर भी प्रभाव डालेगा। नए राष्ट्रपति बने डोनाल्ड ट्रंप ने आंतकवाद पर दोहरी पॉलिसी को लेकर सख्त रवैया अपनाने का संकेत दिया है। वहीं भारत के साथ अपने रिश्तों को मजबूत करने की बात की है। लेकिन संभावना है कि एच1 बी वीजा को लेकर मतभेद हो सकते है।

हालांकि शुक्रवार को विश्वनीयता बहाल करने के लिए तैयार की 10 सूत्री योजना में एच1 बी वीजा पर नरमी दिखाई गयी है। लेकिन इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिली। इस वीजा मे बदलाव होने पर सबसे ज्यादा असर भारतीय आईटी पेशेवरों के प्रभावित होने का अंदेशा है।

इसे भी पढ़े: ट्रंप के भारतीय झुकाव को लेकर पाकिस्तान चिंतित

वहीं, टॉप अमेरिकन थिंक टैंक हेरिटेज फाउंडेशन में सिक्युरिटी और रीजनल जियोपोलिटिक्स के मसलों को देखने वाली लीसा कर्टिस ने कहा, 'ऐसा लगता है कि ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन भारत-अमेरिका के दो साल में बेहतर हुए रिश्तों को बनाए रखेगा।' हालांकि, एच-1बी वीजा पॉलिसी ऐसा मसला है, जिस पर दोनों देशों के बीच टकराव मुमकिन है।'अभी यह साफ नहीं है कि अमेरिकियों के जॉब बचाने का वादा ट्रम्प के ग्लोबल बिजनेस पर कैसा असर डालेगा।'

इसे भी पढ़े: संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान ने फिर लगाया भारत पर बेबुनियाद आरोप

गौरतलब है कि चुनाव प्रचार के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि कंपनियां एच-1बी वीजा वालों को कम सैलरी पर नौकरी दे रही हैं। ऐसे में वे इस वीजा के नियमों में बदलाव करके अमेरिकी लोगों के जॉब बचाएंगे।

First Published: Saturday, November 12, 2016 10:38 AM

RELATED TAG: Trump, Us Presidential Polls,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो