ट्रंप के सहयोगी का तंज़, सिलिकॉन वैली में हैं बहुत सारे एशियाई मूल के सीईओ

डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुने जाने के बाद नए-नए विवाद जन्म ले रहे हैं।

  |   Updated On : November 17, 2016 06:38 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

New Delhi:  

डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुने जाने के बाद नए-नए विवाद जन्म ले रहे हैं। इनमें ताज़ा मामला ट्रंप ने रणनीतिक सहयोगी स्टीव बैनन ने जोड़ दिया है। पिछले साल नवंबर में उन्होंने ट्रंप का रेडियो इंटरव्यू लिया था, जिसमें उन्होंने विवादास्पद बातें कहीं थीं।

उन्होंने कहा है कि सिलिकॉन वैली में एशियाई मूल के तकरीबन दो तिहाई या तीन चौथाई सीईओ हैं। इसके बाद कैनन बोले कि देश अर्थव्यवस्था से बड़ा होता है और हम एक सभ्य देश हैं। माना जा रहा है कि उनका इशारा गोर राष्ट्रवादी पहचान की ओर था।

यह भी पढ़ें: इंद्रा नूयी ने कहा, ट्रंप के चुने जाने के बाद पेप्सी के कर्मचारियों में है डर

ट्रंप के चुने जाने के बाद सिलिकॉन वैली में वैसे ही असहजता का माहौल है। गूगल, एप्पल और पेप्सी जैसी बड़ी कंपनियों को भारतीय मूल के लोग नेतृत्व दे रहे हैं।

कुछ दिनों पहले एप्पल के सीईओ टिम कुक ने कंपनी में काम कर रहे सभी लोगों के नाम एक मेमो लिखा, जिसमें उन्होंने कहा कि एप्पल हमेशा से ही विविधताओं का सम्मान करता आया है और इस वक़्त एका बनाये रखने की सबसे ज़्यादा ज़रुरत है। ट्रंप के चुनावी वादों की वजह से अप्रवासियों में बेचैनी का माहौल है।

यह भी पढ़ें: एप्पल सीईओ टिम कुक का ट्रंप पर निशाना, कहा हम करते हैं विविधता का सम्मान

पेप्सी की सीईओ इंद्रा नूयी ने भी कहा कि ट्रंप के चुने जाने के बाद पेप्सी में काम करने वालों को अपनी सुरक्षा की चिंता सता रही है। नूयी के इस बयान के बाद ट्रंप समर्थकों ने उनपर हल्ला बोल दिया और सोशल मीडिया पर उन्हें काफी ट्रॉल किया गया।

First Published: Thursday, November 17, 2016 06:24 PM

RELATED TAG: Donald Trump, Steve Bannon, Apple, Google, Tim Cook,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो