VIRAL : भगवत गीता का अरबी संस्करण सऊदी अरब सरकार ने किया जारी

News State Bureau  |   Updated On : July 09, 2019 07:01:56 PM
viral-arabic-version-of-the-bhagavad-geeta-continues-by-the-saudi-arab

viral-arabic-version-of-the-bhagavad-geeta-continues-by-the-saudi-arab (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  सोशल मीडिया पर खबर वायरल
  •  भगवत गीता का उर्दू संस्करण जारी
  •  सऊदी अरब सरकार ने किया जारी

नई दिल्ली:  

सोशल मीडिया पर एक खबर वायरल हो रही है. भगवत गीता का अरबी संस्करण सऊदी अरब सरकार ने जारी किया है. न्यूज स्टेट की टीम ने सच जानने के लिए इस खबर की पड़ताल की. जब टीम भगवत गीता के सबसे बड़े प्रकाशक गोरखपुर के गीता प्रेस पहुंची तो यहां एक अलग ही कहानी पता चली. गीता प्रेस के मैनेजर लालमणि तिवारी ने बताया कि गीताप्रेस काफी पहले से उर्दू में भगवतगीता का प्रकाशन करता रहा है, लेकिन अरबी में अब तक गीता प्रेस का प्रकाशन नहीं हुआ है.

यह भी पढ़ें - केंडल जेनर ने बिकिनी में पूरा किया Bottle Cap Challenge, देखें Video

उन्होंने बताया कि मुझे भी सोशल मीडिया के जरिए यह खबर पता चली है कि सऊदी अरब सरकार ने अरबी में भगवत गीता का प्रकाशन करवाया है. जब उन्होंने तहकीकात की तो यह खबर झूठी निकली. क्योंकि उर्दू या अरबी में गीता का प्रकाशन अगर होगा तो उसमें भगवान श्री कृष्ण और अर्जुन की तस्वीरें नहीं लगी होंगी. इस्लाम में तस्वीरों की पूजा नहीं की जाती है.

यह भी पढ़ें -  दिल्ली में शादी के नाम पर चल रहा था ठगी का खेल, क्राइम ब्रांच ने एक नाइजीरियन समेत 3 को दबोचा

गीता प्रेस ने भी अपने उर्दू के संस्करण में किसी भी देवी या देवता की तस्वीर नहीं छापी है, बल्कि उसकी जगह पेड़ पौधों और प्रकृति की तस्वीर ही पुस्तक में छापी गई है. इसके अलावा अबतक किसी ने भी गीता प्रेस से अरबी अनुवाद के लिए सम्पर्क नहीं किया है. ऐसे में गीता प्रेस के मैनेजर इस खबर को भ्रामक ही करार दे रहे हैं.

First Published: Jul 09, 2019 07:01:56 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो