लक्ष्मण झूला है ऋषिकेश की धरोहर, इसे जाया नहीं जाने देंगे- मदन कौशिक

News State Bureau  |   Updated On : July 13, 2019 02:32:37 PM
मदन कौशिक (फाइल फोटो)

मदन कौशिक (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

उत्तराखंड सरकार में शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने लक्ष्मण झूला पुल को बंद किए जाने पर बयान दिया है. उन्होंने कहा कि लक्ष्मण झूला है ऋषिकेश की धरोहर और इसे जाया नहीं जाने देंगे. News Nation से खास बातचीत में कौशिक ने कहा, 'हरिद्वार में भी एक पुल करीब डेढ़ सौ साल पुराना था, मुख्यमंत्री ने कहा कि उसमें रेस्टोरेंट बनाया जाए और उस पुल को नहीं तोड़ा जाए. जहां तक ऋषिकेश के लक्ष्मण झूले का सवाल है यह बहुत पुराना हो गया है और इसमें इस तरह की खामियां आ गई है, जिसकी वजह से वहां पर लोगों का जाना खतरनाक होगा, लेकिन फिर भी इस धरोहर को बचाने की पूरी कोशिश रहेगी.'

यह भी पढ़ें- क्या 96 साल पुराना ऋषिकेश का लक्ष्मण झूला पुल गिरने वाला है, प्रशासन ने तत्काल प्रभाव से रोका यातायात 

आईआईटी की मदद से बच सकता है लक्ष्मण झूला

उन्होंने आगे कहा, 'हमारे पास आईआईटी है, हमारे पास तमाम संस्थान हैं, जिनकी मदद से हमारी कोशिश रहेगी कि लक्ष्मण झूले को ठीक किया जाए, लेकिन हम किसी भी कीमत पर इस धरोहर को मिटने नहीं देंगे, भले ही सुविधा के लिहाज से इसी के पास एक नए पुल का निर्माण क्यों ना करना पड़े.'

गैरसैंण पर बीजेपी गंभीर, हरीश रावत की वजह से होता रहा है कांग्रेस का नुकसान

इस दौरान मदन कौशिक ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर हमला बोला है. गैरसैंण मुद्दे को लेकर शहरी विकास मंत्री ने कहा, 'यह मेरा नहीं कांग्रेस वालों का मानना है कि हरीश रावत की वजह से कांग्रेस को हर बार नुकसान उठाना पड़ता है. जहां तक गैरसेंड का सवाल है, हरीश रावत को पता होना चाहिए कि 2014 में ही वहां पर जमीन के खरीदने और बेचने पर पाबंदी लगाई गई थी. उत्तराखंड के बाहर के व्यक्ति ढाई सौ मीटर से ज्यादा जमीन नहीं खरीद सकते लिहाजा गैरसेंड और उत्तराखंड को बाहरी व्यक्तियों से कोई खतरा नहीं है. उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने के लिए बीजेपी प्रयासरत है.'

यह भी पढ़ें- मसूरी में 28 जुलाई को हिमालयी राज्यों के मुख्यमंत्री का सम्मेलन, विभिन्न मुद्दों पर होगी चर्चा

चैंपियन पर जरूर चलेगा चाबुक, संगठन करेगा अंतिम फैसला

वहीं शहरी विकास मंत्री ने विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन को लेकर कहा कि चैंपियन को माफ नहीं किया जाएगा. जिस तरह से उन्होंने प्रदेश और देश का अपमान किया है, जनप्रतिनिधि होते हुए जिस तरह के कारनामे किए हैं, उन्हें माफ नहीं किया जा सकता. संगठन के स्तर पर काम चल रहा है, सरकार से इसका कोई वास्ता नहीं है, लेकिन चैंपियन पर कड़ी कार्रवाई जरूर होगी.

यह वीडियो देखें-  

First Published: Jul 13, 2019 02:32:37 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो