दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा होगी भगवान राम की, ऊंचाई होगी 251 मीटर

News State Bureau  |   Updated On : July 23, 2019 07:15:23 AM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

ख़ास बातें

  •  हाई पावर कमेटी की बैठक में की गई चर्चा
  •  दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा भारत में ही है
  •  100 हेक्टेयर की भूमि पर होगा प्रतिमा का निर्माण

लखनऊ:  

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा लगाई जाएगी. इस प्रतिमा की ऊंचाऊ 251 मीटर होगी. अयोध्या में सरयू के किनारे सटे 100 हेक्टेयर की भूमि पर विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्थापित की जाएगी. इसके लिए तैयारी शुरू हो गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हाई पावर कमेटी की बैठक हुई.

यह भी पढ़ें- बाराबंकी: हॉस्टल से भागी 6 छात्राएं, वार्डेन पर लगाए गंभीर आरोप

इस बैठक में डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना, कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, मुख्य सचिव अनूपचंद्र पांडेय, अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी के साथ विभागों के कई अधिकारी मौजूद रहे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहाना है कि सरयू के किनारे 100 हेक्टेयर भूमि पर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की भव्य प्रतिमा स्थापित करने का कार्य तेजी से शुरू कर दिया जाए.

यह भी पढ़ें- सपा विधायक नाहिद हसन ने अपने बयान पर दी सफाई, कही ये बात

उन्होंने मीटिंग में कहा कि भगवान राम की प्रतिमा के साथ-साथ अयोध्या के समग्र विकास के लिए पूरी योजना बनाना चाहिए. इसमें भगवान श्रीराम पर आधारित डिजिटल म्यूजियम, इंटरप्रेटेशन सेंटर, लाइब्रेरी, पार्किंग, फूड प्लाजा, लैंडस्केपिंग के साथ-साथ पर्यटकों के मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था की जाएगी.

यह भी पढ़ें- सपा विधायक नाहिद हसन के बयान पर आजम खां ने कह दी ये बड़ी बात

हाई पावर कमेटी की बैठक में तय हुआ है कि मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में एक ट्रस्ट का गठन किया जाएगा. इसमें ट्रस्ट का नाम और उनके ट्रस्ची भी तय किए जाएंगे. बैठक में राजकीय निर्माण निगम के डिजाइन कंसलटेंट के चयन के लिए पूर्व में हुई कार्यवाही को निरस्त कर दिया गया है.

गुजरात से ली जाएगी मदद

विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्थापित करने के लिए गुजरात सरकार के साथ मार्गदर्शन एवं तकनीकी सहायता लेने के लिए MOU हस्ताक्षरित किया जाएगा. प्रस्तावित स्थान पर विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्थापित करने के लिए जियोलाजिकल सर्वे, हाईड्रोलाजिकल सर्वे, साइस्मिक सर्वे तथा नीरी (नागपुर) से इनवायरमेंट असेसमेंट एंड फिजिबिलिटी स्टडी के साथ आईआईटी कानपुर की मदद ली जाएगी.

सबसे भव्य होगी भगवान राम की प्रतिमा

न्यूयॉर्क में स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी की ऊंचाई 93 मीटर है. जबकि विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा सरदार बल्लभ भाई पटेल की है. जो भारत में ही है. इसकी ऊंचाई 183 मीटर है. मुंबई में निर्माणाधीन डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा की ऊंचाई 137.2 मीटर है. वहीं मुंबई में निर्माणाधीन छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा की ऊंचाई 212 मीटर है. जबकि अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की प्रतिमा की ऊंचाई 251 मीटर का प्रस्ताव रखा गया है.

First Published: Jul 23, 2019 07:15:23 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो