Pulwama Attacks: AMU के बाद Lucknow University के छात्र ने मनाया 42 जवानों की शहादत का 'जश्न', कहा- घुसकर मारेंगे

Sunil Chaurasia  |   Updated On : February 16, 2019 03:06:11 PM

(Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

जहां एक ओर पूरा देश पुलवामा में शहीद हुए 40 जवानों को लेकर दो दिन बाद भी गम से बाहर नहीं निकल पाया है, वहीं दूसरी ओर देश में गद्दारी के मामले बढ़ते जा रहे हैं. ताजा मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से आया है. यहां के थाना कृष्णा नगर का रहने वाले रजब खान नाम के छात्र ने पुलवामा में शहीद हुए जवानों को लेकर बेहद ही आपत्तिजनक टिप्पणी की. रजब ने कहा कि पुलवामा में जो हुआ, बहुत बढ़िया हुआ है. वॉट्सऐप पर की गई इस बातचीत का स्क्रीनशॉट वायरल होने के बाद रजब खान को लखनऊ विश्वविद्यालय के जयनारायण कॉलेज से निष्कासिक कर दिया गया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार इस पूरे मामले में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के लोग देश के गद्दार रजब खान के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराएंगे.

ये भी पढ़ें- Pulwama Attack: 42 जवानों की शहादत पर पटाखे फोड़कर मनाया गया जश्न, जम्मू में लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे

गौरतलब है कि इससे पहले अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के एक छात्र ने भी पुलवामा में जवानों की शहादत पर जश्न मनाया था. जिसके बाद उसे एएमयू से निकाल दिया गया था और उसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गई थी. पुलवामा में जवानों पर हुए हमले के बाद ऐसे गद्दारों से जुड़े कई मामले सामने आ रहे हैं. हिंदी वेबसाइट दैनिक भास्कर पर लिखी एक रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में जवानों की शहादत पर जश्न मनाया गया है. श्रीनगर में कुछ लोगों ने पटाखे जलाकर आतंकियों को समर्थन किया. इतना ही नहीं देश का नमक खाकर देश से गद्दारी करने वाले इन लोगों ने पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद को आगे बढ़ने के लिए भी उत्साहित किया. श्रीनगर के इन लोगों ने जैश के समर्थन में जमकर नारेबाजी भी की.

ये भी पढ़ें- पुलवामा में शहीद हुए जवानों के दुख में विराट कोहली ने स्थगित किया अवॉर्ड फंक्शन, ट्वीट कर कही ये बात

इसके अलावा शुक्रवार को जम्मू में आतंकियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पथराव भी कर दिया गया था. प्रदर्शनकारियों ने बताया कि जब वे विरोध में मार्च निकाल रहे थे तो गुज्जरनगर के कुछ स्थानीय लोगों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे. जिसके बाद दोनों गुटों में हिंसक झड़प हो गई थी. इतना ही नहीं हिंसा में कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया था. इस हिंसा में कई लोगों के घायल होने की भी खबरें आई थीं. पुलवामा हमले के बाद जैश आतंकियों का समर्थन करने वाले कई लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई है.

First Published: Feb 16, 2019 01:51:00 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो