राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट को लेकर साधु-संतों में फूट, ऑडियो वायरल, जानिए क्या है मामला

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : November 15, 2019 07:33:24 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit : फाइल फोटो )

लखनऊ:  

सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद राममंदिर को लेकर पूरे संत समाज में खुशी की लहर दौड़ पड़ी. अब यह खुशी धीरे-धीरे साधु-संतों की फूट में तब्दील हो रही है. राम मंदिर निर्माण के लिए बनने वाले ट्रस्ट को लेकर साधु संतों में फूट की बात सामने आई है. इसी मामले को लेकर राम मंदिर निर्माण के लिए अनशन करने वाले संत परमहंस दास और श्री राम जन्म भूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ रामविलास दास वेदांती का ऑडियो वायरल हुआ. जिसमें न्यास अध्यक्ष महंत परमहंस दास को लेकर अभद्र टिप्पणी की गई.

जुबानी जंग का दौर शुरू
श्री राम जन्म भूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ रामविलास दास वेदांती का ऑडियो वायरल होने के बाद छोटी छावनी के 2 दर्जन से अधिक संतों ने तपस्वी छावनी पहुंच कर जमकर हंगामा काटा. हालत यहां तक आ गई कि इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस फोर्स ने महंत परमहंस दास को जिले से बाहर भेज दिया. पुलिस ने साथ ही तपस्वी छावनी और हिंदू धाम की सुरक्षा बढ़ा दी. इसके बाद अयोध्या के संतों में जुबानी जंग तेज हो गई.

यह भी पढेंः वसीम रिजवी से नाराज हुए देवबंदी उलेमा, जानिए क्या है पूरा मामला

डॉ. राम विलास दास वेदांती ने कहा उनकी नहीं है आवाज
हंगामे के बाद न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ. राम विलास दास वेदांती ने अपना एक वीडियो जारी किया. उन्होंने कहा कि ऑडियो में उनकी आवाज नहीं है. उन्होंने महंत परमहंस दास पर आरोप लगाते हुए कहा कि वायरल आडियो में उनकी आवाज नहीं है. कोई दूसरा उनकी आवाज में बात कर रहा है, उस ऑडियो से उनका कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया कि इस तरह का ऑडियो वायरल करके महंत परमहंस दास उन्हें बदनाम करने का षड्यंत्र रच रहे हैं. उनका कहना है कि मैंने कभी भी पूज्य नृत्य गोपाल दास के लिए ऐसे शब्दों का प्रयोग नहीं किया. वहीं दूसरी तरफ विश्व हिंदू परिषद ने इस तरह के अशोभनीय शब्दों का प्रयोग करने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया.

यह भी पढ़ेंः राम मंदिर ट्रस्ट को जमीन सौंपने की कवायद शुरू, हो रही दोबारा पैमाइश

पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा
तपस्वी छावनी के महंत परमहंस का यह बयान आने के बाद कि राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास धन और पद की चाह में राम जन्म भूमि न्यास को ही बनाए रखना चाहते हैं और राम मंदिर निर्माण का पैसा इस्तेमाल करते हैं. इसके बाद नृत्य गोपाल दास के शिष्य और समर्थकों ने महंत परमहंस के घर पर हमला कर दिया और उन्हें जबरन घर से बाहर निकालने की कोशिश की. बड़ी संख्या में पहुंची फोर्स ने किसी तरह परमहंस दास को बाहर निकाला और अपने साथ सुरक्षित स्थान पर ले गई. इसके बाद राम विलास वेदांती के भी इस तरह के बयान को लेकर नृत्य गोपाल दास समर्थकों में नाराजगी है इसीलिए रामविलास दास वेदांती के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

यह भी पढ़ेंः सुप्रीम कोर्ट ने मस्जिद के लिए दी जमीन, नहीं बनेगा मदरसा कॉलेज या अस्पतालः वसीम रिजवी 

महंत नृत्य गोपाल दास पर अपने शिष्यों के द्वारा हत्या का लगाया आरोप
भारी सुरक्षा के बीच जिले से बाहर भेजे गए परमहंस दास ने भी इस मामले में एक वीडियो जारी किया जिसमें अपनी बढ़ती लोकप्रियता को लेकर राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास पर अपने शिष्यों के द्वारा उनकी हत्या करवाने की कोशिश का आरोप लगाते हुए उनके निवास स्थान पर तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया. तपस्वी छावनी पर कब्जा करने की कोशिश सहित कई मंदिरों पर अवैध रूप से कब्जा करने का भी आरोप लगाया.

First Published: Nov 15, 2019 07:33:24 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो