BREAKING NEWS
  • Howdy Modi: पीएम मोदी Iron Man हैं, जानिए किसने कही ये बात- Read More »
  • ह्यूस्टन में बसे कश्मीरियों की जुबान से सुने कश्मीरी पंडितों के कत्लेआम की कहानी- Read More »
  • PM Modi in Houston: पीएम मोदी का ह्यूस्टन में कश्मीरी डेलिगेशन से मिलने पर पाकिस्तान को क्यों लगी मि- Read More »

य़ूपी में महागठबंधन में दरार की खबर निकली Fake, ये है inside story

Mohit Raj Dubey  |   Updated On : June 04, 2019 10:55:34 AM
बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

ख़ास बातें

  •  मायावती ने कहा, अखिलेश यादव ने बहुत अच्‍छे से लड़ा चुनाव
  •  कन्नौज से डिंपल यादव के हारने पर बसपा प्रमुख ने जताया अफसोस
  •  शिवपाल-कांग्रेस पर BJP के खिलाफ लड़ाई कमजोर करने का लगाया आरोप 

नई दिल्‍ली:  

बसपा नेताओं की बैठक में अध्‍यक्ष मायावती (Mayawati) ने भले ही यादव वोट बैंक ट्रांसफर न होने को लेकर निराशा जताई और अकेले ही 11 सीटों पर  उपचुनाव लड़ने की बात कही हो, लेकिन उन्‍होंने अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की काफी तारीफ की. पार्टी सूत्रों का कहना है कि मायावती ने बैठक में अखिलेश यादव की 6 बार तारीफ की. मायावती ने कहा, अखिलेश यादव ने बहुत शानदार ढंग से चुनाव लड़ा. साथ ही कन्नौज से डिंपल यादव (Dimple Yadav) के हारने पर मायावती ने अफसोस भी जताया.

इसके साथ ही मायावती ने शिवपाल यादव (ShivPal Singh Yadav) और कांग्रेस (Congress) पर जमकर निशाना साधा. मायावती ने कहा, शिवपाल यादव और कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के खिलाफ लड़ाई को कमजोर किया.

इससे पहले खबर आई थी कि मायावती ने पार्टी की बैठक में कहा कि गठबंधन से पार्टी को कोई फायदा नहीं हुआ और यादवों का वोट बसपा उम्‍मीदवारों के खाते में नहीं गया. वहीं आजमगढ़ में जीत के बाद पहली बार कैमरे के सामने आए अखिलेश यादव ने आगे की लड़ाई के लिए नए प्लान पर काम करने की बात कही. उन्होंने कहा कि अब अपना साधन और अपने संसाधन से हम चुनाव लड़ेंगे.

हालांकि अखिलेश यादव ने यादवों का वोट ट्रांसफर नहीं होने की मायावती की टिप्पणी पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, लेकिन उन्होंने इशारों में इतनी बात जरूर कही कि अब वह अगली लड़ाई अपने संसाधन और अपने साधन से लड़ेंगे जिसका जल्द ही खुलासा भी करेंगे.

आम तौर पर बसपा उपचुनाव नहीं लड़ती है, लेकिन इस बार मायावती ने उपचुनाव में उतरने का फैसला किया है. यह उपचुनाव विधायकों के सांसद चुन लिए जाने के चलते होगा. बीजेपी के नौ विधायकों ने लोकसभा चुनाव जीता है, जबकि बसपा और सपा के एक-एक विधायक लोकसभा के लिए चुने गए हैं.

First Published: Jun 04, 2019 09:29:28 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो