हैदराबाद में सामने आया एक और रेप केस, पीड़िता के साथ...

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 14, 2019 07:37:01 AM
तेलंगाना में घटी एक और बड़ी घटना

तेलंगाना में घटी एक और बड़ी घटना (Photo Credit : फाइल फोटो )

ख़ास बातें

  •  हैदराबाद गैंगरेप के बाद एक और गैंगरेप का हुआ खुलासा. 
  •  इस बार भी हैदराबाद में ही घटी ठीक दिशा जैसी ही घटना. 
  •  पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आगे की छानबीन कर रही है. 

नई दिल्‍ली :  

तेलंगाना (Telangana) में वेटनरी डॉक्टर के साथ गैंगरेप (veterinary Doctor Gangrape Case) की घटना की आग अभी शांत ही नहीं हुई थी कि हैदराबाद में रेप (Hyderabad Rape Case) का एक और मामला सामने आ गया. हैदराबाद के चंद्रयांगुत्ता थाना क्षेत्र में एक 18 वर्षीय लड़की के साथ कथित रूप से रेप होने की घटना का खुलासा हुआ है.
बताया जा रहा है कि इस लड़की के साथ एक ऑटो ड्राइवर ने कथित रूप से रेप किया. सूत्रों के मुताबिक, पीड़िता अपनी 10 वर्षीय बहन के साथ रास्ता भूल गई थी, इसी बीच एक ऑटो ड्राइवर ने उन्हें मदद करने की बात की और उस लड़की को एक लॉज में ले गया. यहां ऑटो ड्राइवर ने लड़की के साथ घृणित कार्य किया.

यह भी पढ़ें: निर्भया कांड : दोषियों को फंदे पर लटकाने के लिए तिहाड़ जेल में 'फांसी-घर' तैयार, मुजरिमों पर पाबंदियां बढ़ीं!
इस मामले के सामने आते ही पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया और मामले में केस दर्ज कर लिया गया है. बता दें कुछ दिन पहले ही हैदराबाद में एक वेटनरी डॉक्टर के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई थी जिसमें आरोपियों ने पीड़िता के साथ गैंगरेप किया फिर उसके शव को जला दिया. देश ने इस लड़की को 'दिशा' नाम दिया और देश के हर कोने में दिशा के लिए आवाज उठी.
इसके बाद दिशा के चारों आरोपियों को सीन रिक्रिएशन के लिए ले जाया गया जहां चारों ने भागने का प्रयास किया और अंतत: पुलिस को उन चारों का एनकाउंटर करना पड़ा था. दिशा के चारों आरोपियों के एनकाउंटर को देश में बड़ी ही सकारात्मक रूप में लिया और हैदराबाद पुलिस से अन्य राज्यों को सीख लेने तक की बात कही जाने लगी.

यह भी पढ़ें: जेएनयू आंदोलन के बीच हटाए गए शिक्षा सचिव, कई अन्‍य नौकरशाहों का भी तबादला
इसके बाद तेलंगाना पुलिस के इस एनकाउंटर पर सवाल उठे और मामले में सुप्रीम कोर्ट व तेलंगाना हाईकोर्ट में याचिकाएं लगाई गईं. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने एनकाउंटर की जांच के लिए आयोग गठित करने का आदेश दिया. यह आयोग सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायमूर्ति वीएस सिरपुरकर के नेतृत्व में गठित करने का आदेश दिया गया है. इस जांच आयोग में बॉम्बे हाईकोर्ट की पूर्व न्यायमूर्ति रेखा सोनदुर बालदोता और पूर्व सीबीआई डायरेक्टर डीआर कर्तिकेयन को शामिल किया गया है.

यह भी पढ़ें: नागरिकता कानून में संशोधन लागू करने के लिए भाजपा राज्यों को बाध्य नहीं कर सकती : ममता

इसके अलावा पुलिस एनकाउंटर को लेकर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम ने भी घटनास्थल का दौरा किया था.

First Published: Dec 14, 2019 07:31:37 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो