BREAKING NEWS
  • महिला सुरक्षा को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, रेप से जुड़े मामले में 2 महीने में मिलें न्याय- Read More »

दिवाली के बाद तीसरे दिन भी दिल्ली की Air Quality में नहीं कोई सुधार, AQI 546 पर पहुंचा

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 30, 2019 12:23:23 PM
दिल्ली प्रदूषण

दिल्ली प्रदूषण (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

दिवाली के बाद से ही दिल्ली एनसीआर धुंध की चपेट में है. दिवाली के दो दिन बाद भी हवा की क्वालिटी में कुछ खास फर्क नहीं आया है. धुंध इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि धूप कहीं भी नजर नहीं आ रही और तो और लोगों को सांस लेने में भी काफी दिक्कत हो रही है. बुधवार को दिल्ली के लोधी रोड इलाके में वायु गुणवत्ता सूचकांक 306 पहुंच गया. इसके अलावा कई इलाकों में 327 पर भी पहुंच गया. इसके अलावा बुधवार को AQI सोनिया विहार में 488, संजय नगर में 546 और ग्रेटर नोएडा में 388 तक पहुंच गया. इसके अलावा शाहदरा में AQI जहां 390 और आनंद विहार में 401 है.

ये हैं अन्य जगहों के AQI

आयानगर - PM 10- 309, PM 2.5- 383,

द्वारका सेक्टर 8- PM 10- 430, PM 2.5- 421

ITO- PM 10- 282, PM 2.5- 407

नरेला- PM 10- 429, PM 2.5- 452

वजीरपुर- PM 10- 432, PM 2.5- 458

ओखला- PM 10- 380, PM 2.5- 409

लोधी रोड- PM 10- 333, PM 2.5- 413

बवाना- PM 10- 413, PM 2.5- 453

नोएडा सेक्टर 62- PM 10- 443, PM 2.5- 450

गुरुग्राम- PM 10- 306, PM 2.5- 389

बता दें, इससे पहले मंगलवार को भी एयर क्वालिटी बेहद खराब रही. अमेरिकी दूतावास के आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार शाम को एक्यूआई 350 रहा. बता दें, एक्यूआई का 300 से ऊपर होना स्वास्थ्य पर होने वाले खतरे की आपात स्थिति होती है. इससे पूरी जनसंख्या पर गंभीर स्वास्थ्य संबंधी प्रभाव पड़ने की आशंका होती है.

यह भी पढ़ें: NCR में था इनका आतंक, मुठभेड़ के दौरान 25 हजार के दो इनामी बदमाश गिरफ्तार

अमेरिकी दूतावास के आंकड़े के अनुसार, एक्यूआई सुबह में मंद रहा, फिर दोपहर को करीब एक बजे बदतर स्थिति में पहुंचा और शाम चार बजे 355 के आंकड़े पर पहुंचा. दिवाली के बाद दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में पटाखों के फटने के कारण प्रदूषण उच्चस्तर पर पहुंच गया. वहीं सफर इंडिया के अनुमान के अनुसार, दिल्ली के समग्र वायु गुणवत्ता में सुधार हुआ है, 24 घंटे के लेड प्रदूषक (पीएम 2.5) का औसत मान मंगलवार सुबह 250 से नीचे हो गया है, जो बहुत खराब कहा गया था.

यह भी पढ़ें: खुशखबरी: सीएम केजरीवाल ने दिया दिल्ली की महिलाओं को भाई दूज का गिफ्ट, अब बस में सफर करें Free

वहीं 28 तारीख को भी दिल्ली (Delhi) और नोएडा (Noida) में दीपावली (Deepawali 2019) के दिन के बाद वायु प्रदुषण (Air Pollution) खतरनाक स्तर पर पहुंच गया. राजधानी में तो रविवार को ही प्रदुषण का स्तर 'खतरनाक' की श्रेणी में पाया गया. हालांकि पहले से ही दिल्ली की हवा के खराब स्तर पर होने का अनुमान लगाया जा रहा था. सिर्फ पटाखों के धुएं ही नहीं बल्कि खराब मौसम और आस पास के राज्यों में घास फूस एवं कूड़े में लगने वाली आग ने भी दिल्ली की हवा में जहर घोलने का काम किया है.

First Published: Oct 30, 2019 09:27:23 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो