BREAKING NEWS
  • महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लगाने की अटकलों पर राजभवन ने लगाया विराम- Read More »

सीआईआई ने दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की जानें क्‍यों थपथपाई पीठ

मोहित बक्‍शी  |   Updated On : October 21, 2019 08:20:14 PM
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Photo Credit : Twitter )

नई दिल्‍ली:  

दिल्ली के विकास और आर्थिक प्रगति के मुद्दों पर चर्चा करने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को दिल्ली सचिवालय में भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई ) उत्तरी क्षेत्र के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की. जिसका नेतृत्व सीआईआई के उत्तरी क्षेत्र के अध्यक्ष समीर गुप्ता, पुनीत कौर और क्षेत्रीय निदेशक अंकुर चौहान ने किया. सीआईआई के प्रतिनिधिमंडल ने सीएम अरविंद केजरीवाल को दिल्ली सरकार के सामाजिक बुनियादी ढांचे, विशेष रूप से शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा में सुधार के लिए लगातार प्रयासों पर बधाई दी. सीएम के इन कामों से दिल्ली की आर्थिक वृद्धि और समृद्धि बढ़ी है. सीआईआई ने प्रदूषण को 25% कम करने के सरकार के प्रयासों की सराहना भी की. साथ हीआने वाले वर्षों में प्रदूषण को कम करने के लिए सरकार के प्रयासों का समर्थन करने में रुचि व्यक्त की.


सीआईआई ने मुख्यमंत्री को बताया कि उद्योग संगठन पंजाब के 6 जिलों के 100 गांवों में पराली जलाने की समस्या से निपटने के लिए वैकल्पिक तरीके विकसित करने की जिम्मेदारी ली है . पंजाब और हरियाणा में पराली के जलने से उत्पन्न धुआं सर्दियों के महीनों में दिल्ली में वायु प्रदूषण में अचानक वृद्धि का कारण बनता है. इस कारण इन महीनों में दिल्ली में वायु प्रदूषण की समस्याओं का समाधान करना है तो इन राज्यों में किसानों को विकल्प प्रदान करना होगा. सीआईआई ने कहा कि ऑड ईवन योजना दिल्ली में प्रदूषण को कम करने की दिशा में एक सफल मॉडल है. दिल्ली ने अपने पहले प्रयास में ही इसने सफलता हासिल की.

यह भी पढ़ेंःपीली साड़ी वाली रीना द्विवेदी के बूथ पर वोटरों की लंबी कतार

सीआईआई प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली की स्वच्छता में सुधार के लिए दिल्ली सरकार के साथ सहयोग करने की इच्छा जताई है. मुख्यमंत्री ने उनसे आग्रह किया है कि वह शहर को साफ करने की योजना के साथ उसे क्रियान्वित करने की समयसीमा को भी पेश करें. उन्होंने कहा कि सरकार दिल्ली के लोगों के लिए एक स्वच्छ शहर विकसित करने के लिए बहुत उत्सुक है. इसके लिए सरकार विकल्पों की तलाश कर रही है. सीएम ने कहा कि सीआईआई प्रतिनिधिमंडल की तरफ से कोई विकल्प दिया गया तो सरकार उसके व्यावहारिक समाधान को लागू करेगी.

यह भी पढ़ेंःPoll of Exit Polls: महाराष्‍ट्र में बीजेपी-शिवसेना का जलवा बरकरार और हरियाणा में बनेगी खट्टर सरकार

सीआईआई ने दिल्ली में नॉलेज सेंटर बनाने में दिल्ली सरकार के साथ काम करने में अपनी रुचि साझा की है. सीएम ने कहा कि उन्हें इस तरह के कार्यक्रम का समर्थन करने में खुशी होगी. सीएम ने देश में बढ़ती बेरोजगारी पर चिंता व्यक्त की और सीआईआई से कहा कि वह रोजगार को बढ़ावा देने और दिल्ली के युवाओं के लिए रोजगार पैदा करने के लिए विकासशील कार्यक्रमों में सरकार का समर्थन करें.

यह भी पढ़ेंःउत्‍तर प्रदेश उपचुनावः ठंडा रहा वोटरों का उत्‍साह, 11 सीटों पर मतदान संपन्‍न

सीआईआई ने पिछले सप्ताह दिल्ली सरकार द्वारा घोषित नए कौशल और उद्यमिता विश्वविद्यालय के साथ मिलकर काम करने में रुचि व्यक्त की. सीएम ने कहा सरकार और सीआईआई मिलकर इस तरह काम करे कि कोर्स कर निकलने वाले युवाओं को इंडस्ट्री में जाँब मिल सके. इसमें कंपनिया भी अपनी आवश्यकता बता सकती हैं. सीएम केजरीवाल ने कहा कि सीआईआई सरकार को उन महत्वपूर्ण उद्योगों की पहचान करने में मदद कर सकता है, जिनके लिए नया विश्वविद्यालय पाठ्यक्रम डिजाइन कर सकता है. सीआईआई सरकार के साथ मिलकर नए विश्वविद्यालय के लिए पाठ्यक्रम विकसित करने और डिजाइन करने के लिए काम करेगा. जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि विश्वविद्यालय से स्नातक करने वाले सभी छात्र रोजगार पा सकें.

First Published: Oct 21, 2019 08:20:14 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो