BREAKING NEWS
  • कमलेश तिवारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से बड़ा खुलासा, हत्यारों ने 15 बार चाकू से वार किया था- Read More »
  • अवैध रूप से मीट बेचने के आरोप में कांग्रेस पार्षद समेत 3 लोग गिरफ्तार- Read More »
  • सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) आज BCCI के 39वें अध्‍यक्ष बनेंगे, खत्‍म होगा COA का शासन- Read More »

बीजेपी को हराने के लिए रघुवंश प्रसाद के पास है ये Master Plan, नीतीश कुमार को भी न्यौता

रजनीश  |   Updated On : September 15, 2019 01:01:46 PM
रधुवंश प्रसाद (File Photo)

रधुवंश प्रसाद (File Photo) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  बिहार में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर राजनीति शुरू. 
  •  राजद नेता रघुवंश प्रसाद ने कहा सभी पार्टियों को बीजेपी के खिलाफ एक होना चाहिए. 
  •  रघुवंश प्रसाद ने सीएम नीतीश कुमार को भी ऐसा ही करने की दी है नसीहत.

नई दिल्ली:  

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने सभी क्षेत्रीय पार्टियों को आगामी विधानसभा चुनावों (Assembly Elections of Bihar) में एक होकर बीजेपी के खिलाफ लड़ने की नसीहत दे डाली है. रघुवंश प्रसाद ने शुक्रवार को दोबारा कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का मुकाबला करने के लिए सभी क्षेत्रीय विपक्षी पार्टियों का महागठबंधन में विलय कर लेना चाहिए.

हालांकि, उनकी अपनी ही पार्टी में इस विचार को समर्थन मिलता नहीं दिख रहा है.

यह भी पढ़ें: कुपवाड़ा में शहीद हुए कमलेश को नम आंखों से विदाई, 'भारत माता की जय' के लगे नारे
इसके अलावा उन्होंने नीतीश कुमार को भी नसीहत दे डाली. रघुवंश प्रसाद ने कहा कि नीतीश कुमार पहले बीजेपी का साथ छोड़कर आएं तो वो भी इस महागठबंधन का हिस्सा बन सकते हैं. रघुवंश के मुताबिक अलग-अलग दल बनाकर लड़ने से अच्छा है कि एक ही दल बनाकर लड़ा जाए.

उल्लेखनीय है कि बिहार में पांच दलों ने महागठबंधन बनाकर लोकसभा चुनाव साथ लड़ा था लेकिन उन्हें केवल एक सीट पर ही जीत मिल सकी थी. रघुवंश प्रसाद के सुझाव पर प्रतिक्रिया देते हुए महागठबंधन के छोटे घटक हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा है कि यह अच्छा विचार है. अगर आरजेडी और अन्य घटक ‘हम' में विलय करते हैं तो हम उसका स्वागत करेंगे.

यह भी पढ़ें: राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा, लोकसभा चुनाव हारे नहीं, हराए गए

उल्लेखनीय है कि ‘हम' के संस्थापक अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी चेतावनी दे रहे हैं कि अगर महागठबंधन में उनकी मांगों को नहीं माना तो वह अलग हो जाएंगे और अकेले ही आने वाले विधानसभा चुनाव में लड़ेंगे. वहीं दूसरी ओर आरजेडी नेता तेजस्वी और तेज इस समय अपनी ही पार्टी और परिवार के संकटों से परेशान दिखाई दे रहे हैं.

बता दें कि बिहार में 2020 के अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं.

First Published: Sep 15, 2019 12:52:13 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो