देशविरोधी भाषण देने वाले शरजील इमाम की तलाश में पुलिस, भाई को लिया हिरासत में

News State Bureau  |   Updated On : January 28, 2020 09:54:07 AM
शरजील इमाम

शरजील इमाम (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

बिहार की जहानाबाद पुलिस ने  जेएनयू (JNU) छात्र और शाहीन बाग प्रदर्शन के सह-समन्वयक (co-coordinator) शरजील इमाम के भाई को हिरासत में ले लिया है. दरअसल दिल्ली पुलिस ने सोमवार को शरजील इमाम को गिरफ्तार करने के लिए मुबंई, पटना और दिल्ली में रेड की थी जिसके बाद अब बताया जा रहा है कि जहानाबाद पुलिस ने शरजील इमाम के भाई को हिरासत मे लिया है. 

बता दें, जेएनयू  छात्र शरजील इमाम पर भड़काऊ भाषण देने का आरोप है. उन पर आरोप है कि उन्होंने अपने भाषण में असम को भारत से अलग करने की बात की थी.

यह भी पढ़ें:  देशद्रोह के आरोपी शरजील इमाम को जेएनयू प्रॉक्टर ने किया तलब

पैतृक आवास पहुंची पुलिस

जहानाबाद के पुलिस सूत्रों ने सोमवार को बताया कि केंद्रीय जांच एजेंसी की टीम ने शरजील की गिरफ्तारी के लिए जहानाबाद के काको स्थित पैतृक आवास पर रविवार को छापेमारी की. इस दौरान घर के सदस्यों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई, हालांकि शरजील वहां नहीं मिला. इस बीच शरजील की मां अफशां परवीन ने आरोप लगाया है कि उसके बेटे के बयान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया है. उन्होंने दावा किया कि उनका बेटा जैसा दिखाया जा रहा है वैसा नहीं है. उन्होंने कहा, 'मेरे बेटे को फंसाया जा रहा है. वह केवल एनआरसी का विरोध जता रहा था.'

क्या है पूरा मामला?

दरअसल शनिवार को सोशल मीडिया पर शरजील इमाम का एक वीडियो वायरल हुआ था. इस वीडियो में शरजील लोगों को भड़काने के साथ ही देश विरोधी बातें भी करता है. इस विडियो को लेकर उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ और असम के गुवाहाटी में उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है, जिसमें देशद्रोह की धारा भी शामिल है. यूपी पुलिस ने दो टीमों को शरजील की गिरफ्तारी के लिए लगाया है.

यह भी पढ़ें: शरजील की गिरफ्तारी के लिए बिहार में छापेमारी, मां ने कहा - परेशान किया जा रहा

शरजील ने कहा था 'मुर्गी की गर्दन मुस्लिमों के हाथ में है'

शरजील के विवादित वीडियो में कई भड़काऊ बातें कही गई हैं. शरजील ने लोगों को भड़काते हुए कहा कि 'आप जानते हो असम में मुसलमानों के साथ क्या हो रहा है? एनआरसी वहां लागू हो चुका है और लोगों को डिटेंशन कैंपों में भेजा जा रहा है. शरजील ने कहा कि हमें असम के रास्ते बंद करने होंगे जिससे सेना और अन्य सप्लाई वहां न पहुंच सके. मुर्गी की गर्दन मुसलमानों के हाथ में है.'

वहीं दूसरी तरफ जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के मुख्य प्रॉक्टर ने शोधछात्र शरजील इमाम को तलब किया है जिस पर कई राज्यों में देशद्रोह तथा अन्य आरोपों में मामले दर्ज किये गये हैं. शाहीन बाग में प्रदर्शनों के शुरूआती आयोजकों में शामिल इमाम को तीन फरवरी तक प्रॉक्टोरियल कमेटी के समक्ष पेश होने को तथा उसके कथित भड़काऊ भाषणों पर स्थिति स्पष्ट करने को कहा गया है. जेएनयू के रजिस्ट्रार प्रमोद कुमार ने बताया, ‘‘मुख्य प्रॉक्टर के कार्यालय में मुख्य सुरक्षा अधिकारी के दफ्तर से शरजील इमाम के खिलाफ 27 जनवरी की एक सुरक्षा रिपोर्ट प्राप्त हुई है.

First Published: Jan 28, 2020 09:32:45 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो