BREAKING NEWS
  • निर्मला सीतारमण ने की GST की दरों में कटौती की घोषणा, इन चीजों में मिलेगी राहत- Read More »

IPL फिक्सिंग पर बोले एमएस धोनी, मर्डर से भी बड़ा गुनाह है मैच फिक्सिंग

PTI  |   Updated On : March 22, 2019 09:45:44 AM
महेंद्र सिंह धोनी (फाइल फोटो)

महेंद्र सिंह धोनी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

आईपीएल (IPL) 2013 मैच फिक्सिंग (Match Fixing) प्रकरण को अपने जीवन का 'सबसे कठिन और निराशाजनक' दौर बताते हुए महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने सवाल दागा कि खिलाड़ियों का क्या कसूर था. दो बार के विश्व कप (World Cup) विजेता कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) ने 'रोर ऑफ द लायन (Roar of the Lion)' डाक्यूड्रामा में इस मसले पर अपनी चुप्पी तोड़ी. भारतीय क्रिकेट को झकझोर देने वाले इस प्रकरण में प्रबंधन की भूमिका के कारण चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) को दो साल का प्रतिबंध झेलना पड़ा. 

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने कहा , '2013 मेरे जीवन का सबसे कठिन दौर था. मैं कभी इतना निराश नहीं हुआ जितना उस समय था. इससे पहले विश्व कप (World Cup) 2007 में निराशा हुई थी जब हम ग्रुप चरण में ही हार गए थे. लेकिन उसमें हम खराब क्रिकेट खेले थे.'

यह भी पढ़ें- IPL 12: चेन्नई सुपरकिंग्स के कोच ने धोनी को लेकर किया बड़ा ऐलान, इस नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे कप्तान

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने कहा, 'लेकिन 2013 में तस्वीर बिल्कुल अलग थी. लोग मैच फिक्सिंग (Match Fixing) और स्पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing) की बात करते थे. उस समय देश भर में यही बात हो रही थी.'

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने हाटस्टार (Hotstar) पर प्रसारित पहले एपिसोड 'What did we do Wrong' में कहा कि खिलाड़ियों को पता था कि कड़ी सजा मिलने जा रही है.

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने कहा, 'हमें सजा मिलने जा रही थी बस यह जानना था कि सजा कितनी होगी. चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) पर दो साल का प्रतिबंध लगा. उस समय मिली जुली भावनाएं थी क्योंकि आप बहुत सी बातों को खुद पर ले लेते हैं. कप्तान के तौर पर यही सवाल था कि टीम की क्या गलती थी.'

यह भी पढ़ें- इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया तोड़ेगी 142 साल पुरानी परंपरा, एशेज में इस अंदाज में आएगी नजर

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने कहा, 'हमारी टीम ने गलती की लेकिन क्या खिलाड़ी इसमें शामिल थे. खिलाड़ियों की क्या गलती थी कि उन्हें यह सब झेलना पड़ा.'

उन्होंने कहा, 'फिक्सिंग से जुड़ी बातों में मेरा नाम भी उछला. मीडिया और सोशल मीडिया में ऐसे दिखाया जाने लगा मानो टीम भी शामिल हो, मैं भी शामिल हूं. क्या यह संभव है. हां, स्पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing) कोई भी कर सकता है. अंपायर, बल्लेबाज, गेंदबाज लेकिन मैच फिक्सिंग (Match Fixing) में खिलाड़ी शामिल होते हैं.'

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने कहा, 'मैं इस बारे में दूसरों से बात नहीं करना चाहता था लेकिन अंदर से यह मुझे कुरेद रहा था. मैं नहीं चाहता कि किसी भी चीज का असर मेरे खेल पर पड़े. मेरे लिये क्रिकेट सबसे अहम है.' 

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने डाक्यूमेंट्री में कहा कि मैच फिक्सिंग (Match Fixing) कत्ल से भी बड़ा गुनाह है.

यह भी पढ़ें- World Cup से पहले कुलदीप यादव ने बताया कौन सी टीमों पर होगी नजर

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने कहा, 'मैं आज जो कुछ भी हूं, क्रिकेट की वजह से हूं. मेरे लिये सबसे बड़ा गुनाह कत्ल नहीं बल्कि मैच फिक्सिंग (Match Fixing) है. लोगों को अगर लगता है कि मैच का नतीजा असाधारण इसलिये है क्योंकि वह फिक्स है तो लोगों का क्रिकेट पर से विश्वास उठ जाएगा और मेरे लिये इससे दुखदायी कुछ नहीं होगा.'

World Cup 2019 : वर्ल्ड कप से पहले माही का 'मिशन 140', देखें VIDEO

First Published: Mar 22, 2019 09:39:41 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो