शिवालयों में शिवभक्तों का तांता, बाबा नगरी बैद्यनाथ धाम में 'बोलबम' की गूंज

झारखंड के देवघर स्थित बैद्यनाथ धाम में कांवड़ियों का तांता लगा हुआ है। यहां के रावणेश्वर ज्योतिलिर्ंग को शिव मंदिर के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में सर्वाधिक महिमामंडित माना जाता है।

  |   Updated On : July 28, 2018 03:24 PM
शिवालयों में लगा शिवभक्तों का तांता

शिवालयों में लगा शिवभक्तों का तांता

पटना:  

सावन महीने के पहले दिन शनिवार को बिहार और झारखंड के सभी शिवालय 'बोलबम' के नारे से गूंज रहे हैं। पवित्र सावन माह के प्रारंभ होते ही शिवमंदिरों में शिवभक्तों की भीड़ उमड पड़ी है।

झारखंड के देवघर स्थित बैद्यनाथ धाम में कांवड़ियों का तांता लगा हुआ है। यहां के रावणेश्वर ज्योतिलिर्ंग को शिव मंदिर के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में सर्वाधिक महिमामंडित माना जाता है।

झारखंड के देवघर जिला स्थित बैद्यनाथ धाम में रात से ही कई भक्त भगवान शिव के जलाभिषेक के लिए पंक्ति में खड़े हैं।

भक्त सुल्तानगंज से उत्तरवाहिनी गंगा का पवित्र जल लेकर करीब 105 किलोमीटर पैदल लंबी यात्रा कर कांवड़िए बैद्यनाथ धाम पहुंचते हैं। यहां भक्त कामना लिंग का जलाभिषेक करते हैं।

शुक्रवार रात चंद्रग्रहण के कारण शनिवार को सुबह तीन बजे की विशेष पूजा एक घंटे देर से प्रारंभ हुई। इसके बाद यहां भक्तों ने जलाभिषेक शुरू किया, जो अभी भी बदस्तूर जारी है।

और पढ़ें: अमरनाथ यात्रा : 663 यात्रियों का जत्था रवाना, अब तक इतने श्रध्दालु कर चुके हैं बाबा बर्फानी के दर्शन

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी सावन प्रारंभ होने के मौके पर शनिवार को कामना लिंग की पूजा की और बिहार-झारखंड की सीमा पर दुम्मा में सावन मेले का उद्घाटन किया।

इसके पहले मुख्यमंत्री दास ने श्रावणी मेले में लोगों के आने की अपील की।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'देवघर में आज से पवित्र 'श्रावणी मेले' का शुभारंभ हो गया है। मैंने बाबा बैद्यनाथ से प्रार्थना की है कि समस्त देशवासियों के जीवन में खुशहाली और भाईचारे के साथ प्रगति और विकास हो। मैं सभी देशवासियों से देवघर आने की अपील करता हूं, वो यहां आएं और बाबा पर जलार्पण कर पुण्य के भागी बनें।'

मान्यता है कि कामना लिंग पर सावन महीने में जलाभिषेक करने से भगवान सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं।

देवघर के पुलिस अधीक्षक एऩ क़े सिंह ने शनिवार को बताया, 'कांवड़ियों की भीड़ जुटने लगी है। कांवड़िए यहां पहुंचकर बाबा का जलाभिषेक कर रहे हैं। भक्तों की भारी भीड़ देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं।'

देवघर जिला प्रशासन का दावा है कि झारखंड राज्य के प्रवेश द्वार दुम्मा से लेकर बाबाधाम में पड़ने वाले पूरे मेला क्षेत्र में श्रद्घालुओं के लिए बेहतर व्यवस्था की गई है।

उन्होंने बताया कि मेला क्षेत्र में मौजूद पुलिसकर्मियों को श्रद्घालुओं के सहयोगी के तौर पर काम करने के निर्देश दिए गए हैं।

देवघर के उपायुक्त (जिलाधिकारी) राहुल कुमार सिन्हा का दावा है कि पूरे मेला क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा की व्यवस्था की गई है।

उन्होंने बताया कि अधिक भीड़ जुटने के मद्देनजर बाबा पर जलार्पण के लिए 'अरघा सिस्टम' की व्यवस्था की गई है। अरघा के जरिए ही शिवभक्त ज्योतिर्लिंग पर जलार्पण कर रहे हैं।

बिहार में राजधानी पटना के शिवालयों में भी सावन महीने की शुरुआत पर भक्तों का सैलाब देखने को मिल रहा है।

मुजफ्फरपुर के बाबा गरीबनाथ मंदिर, रोहतास के गुप्ताधाम, मोतिहारी के सोमेश्वर मंदिर, सोनपुर के हरिहरनाथ मंदिर सहित सभी शिवालयों में सुबह से ही भीड़ उमड़ रही है।

सभी शिवालयों में सुरक्षा के भी प्रबंध किए गए हैं। सावन के मौके पर शिवालयों को आकर्षक ढंग से सजाया गया है।

और पढ़ें: आज से शुरु हुआ सावन का पवित्र मास, मंदिरों में गूंजे बम-बम भोले का जयकारा

First Published: Saturday, July 28, 2018 02:58 PM

RELATED TAG: Sawan 2018, Lord Shiva, Shiv Temple, Sawan Month, Kanwar Yatra, Baidyanath Temple, Baba Baidyanath Dham,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो