इस रक्षाबंधन पीएम मोदी का सपना होगा पूरा, अगर बहन भाई से ले ये वादा....

26 अगस्त को बहनें अपने भाई को रेशम का धागा बांधकर जीवन भर के लिए सुरक्षा का वादा लेंगी।

  |   Updated On : August 24, 2018 02:20 PM
इस रक्षाबंधन पीएम मोदी का सपना होगा पूरा अगर बहन भाई से ले ये वादा

इस रक्षाबंधन पीएम मोदी का सपना होगा पूरा अगर बहन भाई से ले ये वादा

नई दिल्ली:  

26 अगस्त को बहनें अपने भाई को रेशम का धागा बांधकर जीवन भर के लिए सुरक्षा का वादा लेंगी। देश भर में लड़कियों के प्रति बढ़ रही हिंसा को खत्म करने के लिए जरूरी है कि हर भाई अपनी बहन की सुरक्षा करने के साथ पीएम मोदी के मुहिम 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के साथ जुड़कर अपने बहनों को बेफ्रिक होकर जीने का तोहफा दें।

इस रक्षाबंधन में देश के कई जगह पर ऐसी राखी बाजार में बिक रही है जो 'बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं' के तर्ज पर डिजाइन की गई है। बहनें अपने भाइयों को ऐसी राखी बांधकर एक संदेश देने की कोशिश करेंगी।

और पढ़ें : रक्षाबंधन 2018 : लुभावनी राखियों से सजा बाजार, कीमत 5 रुपए से लेकर 3 लाख तक

बता दें कि 22 जनवरी, 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' योजना की शुरुआत की थी। इस योजना के लिए शुरुआती दौर में 100 करोड़ रुपए का बजट जारी किया गया था। लेकिन बाद में इसे 200 करोड़ से ज्यादा कर दिया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लड़कियों को सशक्त बनाने और उनकी संख्या में हो रही गिरावट को रोकने के लिए इस योजना की शुरुआत की थी। 2011 की जनगणना की बात करें तो भारत के जनसंख्या अनुपात प्रति 1000 पुरुषों में 940 महिलाएं हैं। 2001 की जनगणना से पता चला कि 1000 पुरुषों में 933 महिलाएं थीं।

रक्षाबंधन की अन्य ताज़ा खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें https://www.newsstate.com/religion

पीएम मोदी के इस मुहिम के बावजूद देश में लड़कियों के प्रति अपराध बढ़ते ही जा रहे हैं। NCRB 2016 की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में बलात्कार के मामले 2015 की तुलना में 2016 में 12.4% बढ़े हैं। 2016 में 38,947 बलात्कार के मामले देश में दर्ज हुए। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के मुताबिक देश में एक घंटे में चार रेप की वारदात होती है। यानी हर 14 मिनट में एक लड़की रेप की शिकार होती हैं।

सरकारी योजना और कानून के बावजूद भी लड़कियां समाज में खुद को असुरक्षित महसूस कर रही हैं। सवाल यह है कि इसके पीछे कौन ज़िम्मेदार है? जवाब हमारे बीच मौजूद है। लड़कियों को शिकार बनाने वाला किसी ना किसी का भाई तो होगा ही। जरूरत है कि इस बार बहनें राखी बांधते वक्त भाई से तोहफे में ये वचन ले कि वो सिर्फ उनकी नहीं बल्कि समाज में मौजूद हर लड़की की सुरक्षा करेंगे। वो पीएम मोदी के मुहिम बेटी बचाओं से जुड़कर लड़कियों को भयमुक्त समाज देने की दिशा में काम करेंगे।

और पढ़ें : इस रक्षाबंधन भाई अपनी बहन को दे ये शानदार 6 गिफ्ट, देखें क्या है वो

First Published: Friday, August 24, 2018 02:00 PM

RELATED TAG: Rakhi 2018, Raksha Bandhan 2018, Raksha Bandhan,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो