ओडिशा : मौसी के घर से वापस आए भगवान जगन्नाथ, हजारों श्रद्धालु इस यात्रा में हुए शामिल

भगवान जगन्नाथ अपने बड़े भाई बलभद्र, भगवान सुदर्शन और देवी सुभद्रा के साथ वापस अपने घर लौट आए है। उनकी इस यात्रा को बाहुड़ा यात्रा कहा जाता है।

  |   Updated On : July 22, 2018 09:13 PM
 मौसी के घर से लौटे भगवान जगन्नाथ (फोटो-ANI)

मौसी के घर से लौटे भगवान जगन्नाथ (फोटो-ANI)

नई दिल्ली:  

भगवान जगन्नाथ अपने बड़े भाई बलभद्र, भगवान सुदर्शन और देवी सुभद्रा के साथ वापस अपने घर लौट आए है। उनकी इस यात्रा को बाहुड़ा यात्रा कहा जाता है।

इस दौरान घंटा, झाल, शंख और 'हरि बोल' के उच्चारण के बीच देवताओं को गुंडिचा मंदिर से बाहर लाया गया और उन्हें 'पहंडी' जुलूस के जरिए रथ पर ले जाया गया।

बाहुड़ा यात्रा भगवान जगन्नाथ और भाई-बहनों की गुंडिचा मंदिर से श्रीमंदिर की वापसी का प्रतीक है।

मान्यता है कि देवता रथयात्रा के दौरान गुंडिचा मंदिर जाते हैं। यह देवताओं के 12 सदी के मंदिर से देवी गुंडिचा मंदिर की नौ दिनों की यात्रा होती है। देवी गुंडिचा उनकी मौसी हैं।

लगातार हो रही बारिश के बीच भी हजारों श्रद्धालु रविवार को पुरी के पवित्र शहर में जमा हुए और बाहुड़ा यात्रा के साक्षी बने।

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) के अधिकारियों ने कहा कि धार्मिक संस्कार अपनी निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार आयोजित हुए और यात्रा सुचारू रूप से हुई।

देवताओं के सुना बेश (सोने के परिधान) सोमवार को उनके संबंधित रथों पर आयोजित किए जाएंगे।

और पढ़ें: जानें कब शुरू हो रहा है सावन और क्या कुछ है खास इस बार

First Published: Sunday, July 22, 2018 08:48 PM

RELATED TAG: Jagannath, Rath Yatra, Puri, Odisha, Bahuda Rath Yatra,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो