BREAKING NEWS
  • रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी में रोड़ा अटका रहे कुछ एनजीओ, जानें कैसे- Read More »
  • PAK को भारत के साथ कारोबार बंद करना पड़ा भारी, अब इन चीजों के लिए चुकाने पड़ेंगे 35% ज्यादा दाम- Read More »
  • मुंबई के होटल ने 2 उबले अंडों के लिए वसूले 1,700 रुपये, जानिए क्या थी खासियत- Read More »

Sawan 2019: सावन मास में भूलकर भी न करें ये काम, उठाना पड़ सकता है कष्ट

News State Bureau  |   Updated On : July 19, 2019 08:43 AM

नई दिल्ली:  

सावन के शुरू होते ही शिव मंदिर हर-हर महादेव और बोल बम के जयकारों से गूंज उठते हैं. 17 जुलाई से 15 अगस्‍त तक शायद ही कोई मंदिर या शिवालय होगा जहां शिव के जयकारे न गूंजते हों. पूरे सावन मास धार्मिक उत्सव होते हैं और विशेष तौर पर सावन को खास व्रत भी किया जाता है. भारत में इस उत्सव को उत्साह के साथ मनाया जाता हैं. इस दौरान कुछ नियमों का पालन भी करना पड़ता है. ऐसे में हम आपको बताने वाले हैं कुछ ऐसी चीजें जो आपको भूलकर भी नहीं करनी चाहिए.

यह भी पढ़ेंजानिए सावन मास में क्‍यों होती है भगवान शिव की पूजा, महादेव को यह महीना क्यों है प्रिय?

1. कहा जाता है कि सावन मास में हरी पत्तेदार सब्जियां नहीं खानी चाहिए क्योंकि इस माह में इन सब्जियों में पित्त बढ़ाने वाले तत्व की मात्रा ज्यादा होती है.

2. कहा जाता है कि सानव मास में दूध भी नहीं पीना चाहिए क्योंकि इन दिनों ये भी पित्त को बढ़ाने का काम करती है.

3. सावन मास में सात्विक भोजन करना चाहिए.

5. इन दिनों किसी गाय या सांड को मारकर न भगाएं बल्कि उन्हें खाना खिलाएं

यह भी पढ़ेंसावन में शिव का ऐसे करें पूजन, सारे दुख-दर्द हो जांएगे छू मंतर

6. कहा जाता है कभी भी शिवलिंग पर हल्दी नहीं चढ़ानी चाहिए

7. शास्त्रों में बैंगन को अशुद्ध माना गया है. ऐसे में सावन में बैंगन नहीं खाना चाहिए.

8. भगवान शंकर को कदंब,कठूमर,केवड़ा, शिरीष,कोष्ठ, कैथ,गाजर,कुनदऔर केतकी के फूल भूलकर भी न चढ़ाएं.

First Published: Friday, July 19, 2019 08:26:26 AM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Sawan Somvar, Sawan Vrat, Shravan 2019, Sawan Ka Mahina 2019, Sawan Start Date, Sawan 2019, Sawan Ka Somvar 2019, Sawan Kab Se Shuru Hai, Sawan, Savan 2019, Sawan Festival 2019,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

वीडियो