BREAKING NEWS
  • बगैर जुर्म बताए पुलिस ने बीजेपी नेता को दिया 'थर्ड डिग्री' टॉर्चर, डंडों और फट्टों से की पिटाई- Read More »
  • ​​​​​Petrol Price Today 14 Oct: यहां सस्ता मिल रहा है पेट्रोल-डीजल, देखें पूरी लिस्ट- Read More »
  • Horoscope, 14 October: जानिए कैसा रहेगा आपका आज का दिन, पढ़िए 14 अक्टूबर का राशिफल- Read More »

पिता के शव के साथ बारात लेकर पहुंचा दूल्हा, वजह जानकर न चाहते हुए भी रो पड़ेंगे आप

News State Bureau  |   Updated On : August 13, 2019 11:30:51 AM
पिता के शव के साथ अलेक्जेंडर का परिवार

पिता के शव के साथ अलेक्जेंडर का परिवार (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

तमिलनाडु के विल्लुपुरम से एक बेहद ही गमगीन शादी का मामला सामने आया है. जहां एक बेटे ने अपने पिता के शव के सामने सात फेरे लिए और अपने नए जीवन की शुरुआत की. जी हां, यहां एक बेटे ने अपने पिता के शव को साक्षी मानकर शादी की. दरअसल, आने वाली 2 सितंबर 2019 को विल्लुपुरम के रहने वाले डी. अलेक्जेंडर (31) की शादी अन्नपूर्णानी से होनी थी. अलेक्जेंडर का पूरा परिवार लाडले बेटे की शादी की तैयारियों में जुटा हुआ था. अलेक्जेंडर के पिता देवमणि की ख्वाहिश थी कि वे बड़े धूमधाम से अपने बेटे की शादी करें. लेकिन अचानक अलेक्जेंडर के परिवार की खुशियां गम में बदल गईं.

ये भी पढ़ें- विधायक ने सदन में छोड़ दी 'भयानक जानलेवा गैस', अफरा-तफरी के बीच स्पीकर ने स्थगित की सभा

बीते शुक्रवार को अलेक्जेंडर के पिता का आकस्मिक निधन हो गया. पिता की मौत ने अलेक्जेंडर को पूरी तरह से झकझोर कर रख दिया. बेटे को सबसे बड़ा गम इस बात का था कि उसके पिता की शादी देखने की ख्वाहिश भी पूरी नहीं हो सकी. जिसके बाद अलेक्जेंडर ने पिता की इच्छा पूरी करने के लिए एक बेहद ही अजीबो-गरीब तरीका अपनाया. वह चाहता था कि उसकी शादी में उसके पिता तो नहीं लेकिन कम से कम उनका शव ही मौजूद रहे जिसके सामने वह अन्नपूर्णानी से शादी कर सके. अलेक्जेंडर ने अपनी शादी में पिता के शव को रखने की अनुमति मांगने के लिए अन्नपूर्णानी से बात की तो वह भी इसके लिए तैयार हो गई.

ये भी पढ़ें- विराट कोहली ODI में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले 8वें बल्लेबाज बने, टॉप पर पहुंचने के लिए इन दिग्गजों से होगा सामना

दोनों परिवारों की इच्छा के मुताबिक अलेक्जेंडर और अन्नपूर्णानी ने 2 सितंबर का इंतजार किए बगैर शुक्रवार को ही शादी करने का फैसला किया. देवमणि के शव को नहला-धुलाकर, नए कपड़े पहनाकर बारात में शामिल किया गया और शादी के मंडप में भी बैठाया गया. अलेक्जेंडर ने अपने पिता के शव के सामने ही शादी की सभी प्रक्रियाएं पूरी कीं. जिसके बाद दोनों परिवारों ने शव के साथ ही फोटो भी खिंचवाए. शुक्रवार को हुई देवमणि की मौत के बाद उसी रात उनके बेटे ने शादी की और अगले दिन शनिवार को उनका अंतिम संस्कार किया गया.

First Published: Aug 13, 2019 11:30:51 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो