BREAKING NEWS
  • महिला सुरक्षा को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, रेप से जुड़े मामले में 2 महीने में मिलें न्याय- Read More »

सुखबीर सिंह बादल ने रघुवर दास से की गुजारिश, 1984 दंगे की फाइल फिर से खोलें

आईएनएस  |   Updated On : September 30, 2019 06:30:35 AM
सुखबीर सिंह बादल (फोटो:ANI)

सुखबीर सिंह बादल (फोटो:ANI) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

शिरोमणि अकाली दल (एसएडी) के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने रविवार को झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास से आग्रह किया कि वह 1984 में हुए सिखों के संहार के सभी मामलों को फिर से खोलना सुनिश्चित करें या इन्हें केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दें. उन्होंने कहा कि इन मामलों को शीर्ष स्तर पर उठाने से पहले उनकी पार्टी सुप्रीम कोर्ट के वकीलों की एक टीम को इनका अध्ययन करने के लिए भेजेगी.

गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के मौके पर एक सभा को संबोधित करते हुए शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख ने कहा कि 1984 में बोकारो में 100 से अधिक सिखों की हत्या कर दी गई थी. उन्होंने कहा कि यह बेहद दुख का विषय है कि इस जघन्य अपराध के लिए एक व्यक्ति को भी सजा नहीं हुई.

और पढ़ें:तेजप्रताप की पत्नी ऐश्वर्या हुआ उत्पीड़न, पिता चंद्रिका राय ने कहा-शर्म आती है कि लालू के घर रिश्ता जोड़ा

सुखबीर सिंह बादल ने कहा, 'मैं झारखंड के मुख्यमंत्री से आग्रह करता हूं कि वह तुरंत 1984 के मामलों में एक स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) का गठन करें और यह सुनिश्चित करें कि सभी मामलों को पुन: खोला जाए और उन्हें अंजाम तक लेकर जाया जाए.'

उन्होंने सिख समुदाय के खिलाफ हुए सभी गलत कामों को सुधारने के लिए अकाली दल के बैनर तले एकजुट होने के लिए पूरी संगत से अपील की.

दिल्ली और कानपुर में भी इसी तरह के मामलों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि जब तक जघन्य अपराध के लिए दोषियों को सजा नहीं मिल जाती, सिख समुदाय के घाव नहीं भरेंगे.

इसे भी पढ़ें:महाराष्ट्र: चुनाव लड़ने वाले ठाकरे परिवार के पहले सदस्य होंगे आदित्य ठाकरे, वर्ली से ठोकेंगे ताल

उन्होंने कहा, 'प्रत्येक पीड़ित परिवार को इंसाफ मिलने तक हम लड़ाई लड़ते रहेंगे और न्याय हर हाल में होगा.'

सुखबीर बादल ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल 1984 में बोकारो में हुए सिखों के संहार के मामलों के अध्ययन के लिए सुप्रीम कोर्ट के वकीलों की टीम भेजेगा.

First Published: Sep 29, 2019 10:10:50 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो