PM नरेंद्र मोदी ने देशवासियों के घरेलू बजट के टुकड़े-टुकड़े किए: राहुल गांधी

Bhasha  |   Updated On : January 14, 2020 09:03:01 PM
कांग्रेस नेता राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

दिल्ली:  

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने देश में महंगाई बढ़ने को लेकर मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार (PM Narendra Modi) पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों के घरेलू बजट के टुकड़े-टुकड़े कर दिए. राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि कमरतोड़ महंगाई, जानलेवा बेरोजगारी और गिरती जीडीपी ने 'आर्थिक आपातकाल' की स्थिति बना दी है. सब्ज़ी, दाल, खाने का तेल, रसोई गैस व खाद्य पदार्थों की महंगाई ने गरीब के मुंह का निवाला छीन लिया है.

यह भी पढे़ंःममता बनर्जी का PM मोदी पर निशाना- हम दुश्मनों से भी विनम्र व्यवहार करते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि...

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी ने देशवासियों के घरेलू बजट के टुकड़े-टुकड़े कर दिए हैं. गौरतलब है कि खुदरा मुद्रास्फीति की दर दिसंबर, 2019 में जोरदार तेजी के साथ 7.35 प्रतिशत के स्तर पर पहुंच गई है. यह भारतीय रिजर्व बैंक के संतोषजनक स्तर से कहीं अधिक है. खाद्य वस्तुओं की कीमतों में तेजी की वजह से खुदरा मुद्रास्फीति में उछाल आया है.

बता दें कि इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि मोदी सरकार देश को मुद्दों से भटका रही है. अर्थव्यवस्था, बेरोजगारी पर सरकार चुप हैं. इसके साथ ही राहुल गांधी ने पीएम मोदी को चैलेंज देते हुए कहा कि बिना पुलिस किसी यूनिवर्सिटी में जाएं और छात्रों से बातचीत करें.

यह भी पढे़ंःदिल्ली विधानसभा चुनावः AAP ने जारी की सभी 70 सीटों पर उम्मीदवारों की लिस्ट, नई दिल्ली से लड़ेंगे अरविंद केजरीवाल

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि युवाओं की समस्या का समाधान करने के बजाय नरेंद्र मोदी देश को भटकानें और लोगों को विभाजित करने की कोशिश कर रहे हैं. युवाओं की आवाज जायज हैं, इसे दबाया नहीं जाना चाहिए. सरकार को इसे सुनना चाहिए. राहुल गांधी ने पीएम मोदी को चुनौती देते हुए कहा, 'नरेंद्र मोदी को युवाओं को यह बताने की हिम्मत होनी चाहिए कि भारतीय अर्थव्यवस्था एक आपदा क्यों बन गई है ... उनके पास छात्रों के सामने खड़े होने की हिम्मत नहीं है. मैं उन्हें किसी भी विश्वविद्यालय में जाने के लिए चुनौती देता हूं, बिना पुलिस के वहां खड़ा हूं और लोगों को बताऊंगा कि वे इस देश के लिए क्या करने जा रहे हैं.'

First Published: Jan 14, 2020 08:56:53 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो