BREAKING NEWS
  • एफबीआई के 10 मोस्ट वांटेड की लिस्ट में भारत का भगोड़ा शामिल - Read More »
  • कमलेश तिवारी मर्डर केसः 2 मौलानाओं पर हत्या का मुकदमा दर्ज, जांच के लिए SIT गठित- Read More »

बालाकोट में कोई आतंकी नहीं मारा गया, कांग्रेस नेता शशि थरूर ने फिर किया दावा

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : September 20, 2019 12:50:12 PM
बालाकोट में कोई आतंकी नहीं मारा गया, शशि थरूर ने फिर किया दावा

बालाकोट में कोई आतंकी नहीं मारा गया, शशि थरूर ने फिर किया दावा (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली :  

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने एक बार ऐसी बयानबाजी की है, जिससे उनकी पार्टी के लिए असहज स्‍थिति का सामना करना पड़ सकता है. शशि थरूर ने बालाकोट एयर स्‍ट्राइक पर सवाल उठाते हुए कहा है कि वहां एक भी आतंकी नहीं मारा गया था. इसके लिए उन्‍होंने कई विदेशी मीडिया की रिपोर्ट का भी हवाला दिया. शशि थरूर ने कहा कि पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) पर पाकिस्तान का कोई अधिकार नहीं है. थरूर का कहना है कि पीओके पर सरकार के रुख को लेकर उनका कोई मतभेद नहीं है लेकिन जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाने के बाद सरकार ने संविधान के अनुरूप डील नहीं किया.

यह भी पढ़ें : वित्‍त मंत्री के तोहफे से झूम उठा शेयर बाजार, बजट के बाद सबसे बड़ी तेजी, करीब 1800 Point बढ़ा सेंसेक्स

थरूर गुरुवार को आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि गाय के नाम पर होने वाली मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं से देश की छवि खराब हो रही है. इससे निवेशक निवेश करने से कतरा रहे हैं. बालाकोट ऑपरेशन पर सवाल उठाते हुए शशि थरूर ने कहा, कई अंतर्राष्ट्रीय माध्यमों द्वारा बताया गया है कि कोई आतंकवादी हवाई हमले में नहीं मारा गया. कई अंतर्राष्ट्रीय माध्यमों ने बालाकोट हमले की तस्वीरें प्रकाशित कर यह सबूत दिया है कि बालाकोट हवाई हमले में कोई आतंकवादी नहीं मारा गया.

अगर सरकार कहती है कि बहुत प्रभावी हमला था, कई आतंकवादी मारे गये तो उनकी तरफ से भी कुछ सबूत दिखाया जाना चाहिए था.

यह भी पढ़ें : अमेरिका में व्‍हाइट हाउस के बाहर अंधाधुंध फायरिंग, एक की मौत और 5 लोग घायल

इस मौके पर राजस्‍थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि आंकड़ों के अनुसार देश की सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी है और समष्टि अर्थशास्त्र (मेक्रो इकोनोमिक्स) माहौल के संतुलन को बनाने के लिये ठोस कदम उठाने की जरूरत है. आज हर क्षेत्र में मंदी का दौर है और निवेशकों का विश्वास कम हो गया है, बैंकों का एनपीए बढ़ गया है. बैंक कर्ज नहीं दे रहे है, नौकरियों का सृजन नहीं हो रहा है और कारखाने बंद हो रहे हैं.

First Published: Sep 20, 2019 12:38:24 PM

RELATED TAG:

Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो