हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले पीड़िता के पिता, न्याय मिल गया...लेकिन मेरी बेटी नहीं आएगी वापस

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 06, 2019 07:18:45 PM
पीड़िता के पिता

पीड़िता के पिता (Photo Credit : ANI )

नई दिल्ली:  

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ रेप और फिर निर्मम हत्या के चारों आरोपियों शुक्रवार सुबह पुलिस एनकाउंटर में मारे गए. इस कार्रवाई को लेकर देश वैसे तो दो भागों में बंटा हुआ है. लेकिन रेप पीड़िता के पिता ने इस एनकाउंटर को सही ठहराते हुए कहा कि न्याय मिल गया.

पीड़िता के पिता ने कहा, 'न्याय मिल गया. मेरी बेटी अब वापस नहीं आएगी, लेकिन लोगों के लिए मेरा संदेश है कि पूरे देश को ऐसे परिवारों के साथ खड़ा होना चाहिए जो ऐसी भयानक वारदात से गुजरते हैं. '

पीड़िता के पिता ने सरकार को बधाई देते हुए कहा कि आरोपियों का एनकाउंटर हुआ है. मैं यह सुनकर बहुत खुश हूं. यह एक उदाहरण है. रिकॉर्ड टाइम में इंसाफ मिला गया है. मैं उन लोगों के लिए शुक्रगुजार हूं, जो इस मुश्किल घड़ी में हमारे साथ खड़े रहे.


बता दें कि महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप और हत्या की वारदात के 10 दिन बाद पुलिस ने शुक्रवार को रंगारेड्डी जिले में शादनगर के पास मुठभेड़ में चारों आरोपियों को मार गिराया. पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीन लिए और उनपर फायरिंग करने लगे, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में चारों को मार गिराया गया. घटना हैदराबाद से 50 किलोमीटर दूर शादनगर शहर के चाटनपेल्ली में सुबह छह बजे हुई.

इसे भी पढ़ें:उन्नाव गैंगरेप : सफदरजंग अस्पताल में भर्ती पीड़िता की हालत नाजुक, डॉक्टरों ने कहा बचने की संभावना कम

आरोपियों को उसी स्थान पर ढेर कर दिया गया, जहां उन लोगों ने 27 नवंबर की रात हैदराबाद के बाहरी इलाके में शमशाबाद टोल प्लाजा के पास डॉक्टर युवती को सामूहिक दुष्कर्म का शिकार बनाने के बाद हत्या कर शव को पेट्रोल छिड़ककर जलाने का प्रयास किया था.

साइबराबाद पुलिस आयुक्त वीसी सज्जनार ने पत्रकारों से कहा कि 10 सदस्यीय पुलिस टीम द्वारा आरोपियों को सुबह 5.45 बजे मौके पर ले जाया गया था. पुलिस टीम इन आरोपियों को यहां पीड़िता के शव को जलाने के बाद उनके द्वारा छिपाए गए मोबाइल और अन्य सामग्रियों को खोजने आई थी.

उन्होंने कहा कि आरोपियों ने पुलिस पर पत्थरों, छड़ी और अन्य धारदार सामग्रियों से हमला किया. इनमें से दो आरोपियों ने पुलिसकर्मियों से हथियार छीन लिए और फायरिंग की.प

और पढ़ें:हैदराबाद मुठभेड़ की नेताओं ने प्रशंसा की तो कुछ ने जताई चिंता, जानें मेनका, जया बच्चन से लेकर सबने क्या कहा

उन्होंने कहा कि इसके बाद भी पुलिस ने धर्य बरता और उन्हें आत्मसमर्पण करने को कहा, लेकिन उन्होंने गोलीबारी जारी रखी। पुलिस ने गोलीबारी का जवाब दिया और पाया कि चारों की मौत हो चुकी है.

पुलिस प्रमुख ने कहा कि पुलिस ने मुख्य आरोपी मोहम्मद आरिफ और चौथे आरोपी चेन्नाकेशवुलु के हाथ में हथियार पाया. उन्होंने कहा कि दो पुलिस अधिकारियों के सिर में चोट लगी, हालांकि दोनों को गोली नहीं लगी.

(इनपुट IANS के साथ)

First Published: Dec 06, 2019 07:12:21 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो