मनी लांड्रिंग मामले में DHFL डायरेक्टर कपिल वधावन को ED ने किया गिरफ्तार

News State Bureau  |   Updated On : January 27, 2020 06:13:27 PM
मनी लांड्रिंग मामले में DHFL डायरेक्टर कपिल वधावन को ED ने किया गिरफ्तार

कपिल वधावन (Photo Credit : फाइल )

नई दिल्ली:  

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिडेट (DHFL) के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर कपिल वाधवान (Kapil Wadhawan) को मनी लांडरिंग(Money Laundering) मामले में गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि कपिल वाधवान को इकबाल मिर्ची के खिलाफ चल रहे मनी लॉन्ड्रिंग के केस के सिलसिले में गिरफ्तार किया है. आपको बता दें कि पिछले साल नवंबर में भी प्रवर्तन निदेशालय ने डीएचएफल के चेयरमैन कपिल वाधावन को पूछताछ के लिए तलब किया था. 

यह भी पढ़ें-VIDEO: रनवे से फिसलकर सड़क पर पहुंचा 150 यात्रियों से भरा विमान, जानें फिर क्या हुआ 

सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) तस्कर इकबाल मिर्ची से संबंधों को लेकर दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉर्प लिमिटेड के मुख्य प्रबंध निदेशक कपिल वधावन को गिरफ्तार कर लिया. मीडिया में आयीं खबरों के मुताबिक बताया जा रहा है कि कपिल ने सौदों से संबंधित कुछ दस्तावेज पहले भी प्रवर्तन निदेशालय के निर्देश पर जमा किए थे. पिछले साल नवंबर से ही कपिल ईडी के राडार पर थे.

यह भी पढ़ें-देश की अर्थव्यवस्था को लेकर पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा का केंद्र सरकार पर हमला

पिछले साल ईडी ने कई ठिकानों पर की थी छापेमारी
आपको बता दें कि इसके पहले पिछले साल प्रवर्तन निदेशालय (ED) दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉर्प लिमिटेड (DHFL) के 14 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की थी इस स्थानों में कंपनी के ऑफिस और इस कंपनी के प्रमोटरों के घर शामिल थे. आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय कपिल वाधावन के तार अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के सहयोगी इकबाल मिर्ची से जुड़े होने का दावा कर रहा था जिसके बाद कपिल ईडी के राडार पर आए. कपिल वाधावन ने इकबाल मिर्ची से जुड़ी कंपनी को मोटा कर्ज दिया था. सूत्रों की मानें तो 9 साल में इकबाल मिर्ची के खाते से लगभग 22 करोड़ रुपये विदेश भेजे गए थे. 

यह भी पढ़ें-दुस्साहस: कोलकाता नगर निगम के फेसबुक पेज पर भारत के नक्शे पर PoK नहीं, मेयर ने कही ये बात 

इसके पहले ईडी ने 11 अक्तूबर को इकबाल मिर्ची के दो अन्य सहयोगियों हारून यूसुफ और रंजीत बिंद्रा को गिरफ्तार किया था. वित्तीय जांच एजेंसी ने मुंबई की एक अदालत को बताया था कि डीएचएफएल फाइनेंसिंग कंपनी ने इकबाल मिर्ची से जुड़ी कंपनी सनब्लिक रियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड को उनकी तीन संपत्तियों पर 2,186 करोड़ रुपये का मोटा कर्ज दिया था, जिसकी वजह से डीएचएफएल के डायरेक्टर कपिल वाधावन भी इस जांच के घेरे में संदिग्ध घेरे में थे.

 

First Published: Jan 27, 2020 05:48:53 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो