BREAKING NEWS
  • हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपनाएंगी मायावती, बड़ी तादाद में समर्थक भी करेंगे धर्म परिवर्तन- Read More »
  • जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने ट्रक ड्राइवर की गोली मार की हत्या, सर्च अभियान जारी- Read More »
  • पाकिस्तान ने भारत को दहलाने की रची बड़ी साजिश, लश्कर समेत 3 बड़े आतंकी संगठन को सौंपा ये काम- Read More »

पी चिदंबरम के बाद अब कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार भी तिहाड़ जेल भेजे गए

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : September 19, 2019 01:27:18 PM
पी चिदंबरम के बाद अब डीके शिवकुमार भी तिहाड़ जेल भेजे गए

पी चिदंबरम के बाद अब डीके शिवकुमार भी तिहाड़ जेल भेजे गए (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली :  

कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को तिहाड़ जेल भेज दिया गया है. दिल्‍ली के राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल में उनका इलाज चल रहा था. मनी लांड्रिंग केस में प्रवर्तन निदेशालय ने उन्‍हें गिरफ्तार किया था. अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद डीके शिवकुमार को तिहाड़ भेजा गया है. दिल्ली (Delhi) की राउज़ एवेन्यू कोर्ट (Rouse Avenue Court) ने 17 सितंबर को मनी लांड्रिंग मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डीके शिवकुमार (DK Shivkumar) को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. कोर्ट का आदेश था कि जेल भेजने से पहले उनका मेडिकल चेकअप करवा लिया जाए. चेकअप के दौरान डॉक्टरों की सलाह पर डीके शिवकुमार को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उसके बाद गुरुवार को उन्‍हें तिहाड़ जेल (Tihar Jail) भेज दिया गया. डीके शिवकुमार को जेल नंबर 7 में रखा गया है.

यह भी पढ़ें : राजीव धवन को श्राप देने वाले प्रोफेसर ने सुप्रीम कोर्ट में मांगी माफी, अवमानना की कार्यवाही बंद

इससे पहले 4 सितंबर को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने डीके शिवकुमार को गिरफ्तार कर लिया था. डीके शिवकुमार ने गिरफ्तारी से बचने के लिए कर्नाटक हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी जिसे कोर्ट ने खारिज कर दी थी. डीके शिवकुमार पर करीब आठ करोड़ रुपये के धनशोधन की कोशिश करने का आरोप है.

यह भी पढ़ें : आतंकियों सावधान! भारत से बचकर रहो, नहीं तो मार डालेगा, इमरान खान ने चेताया

कर्नाटक कांग्रेस के संकटमोचक कहे जाने वाले डीके शिवकुमार ने बीजेपी पर आरोप लगाया था कि वह बदले की भावना से प्रेरित होकर उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है. प्रवर्तन निदेशालय ने उन्हें नोटिस भेजा था जिसमें उन्हें शुक्रवार को दिल्ली प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर में पेश होने का आदेश दिया था. अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया था.

First Published: Sep 19, 2019 12:43:02 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो