नागरिकता संशोधन बिल पर North-East में उग्र हुआ प्रदर्शन, असम CM ने कही ये बात

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 12, 2019 01:43:17 PM
sarbananda sonowal

sarbananda sonowal (Photo Credit : (फोटो-ANI) )

नई दिल्ली:  

लोकसभा और राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल 2019 (citizenship amendment bill 2019) पारित हो गया लेकिन इसकी आग में पूरा पूर्वोत्तर (North East) जल रहा है. असम , गुवाहाटी में इस बिल के खिलाफ भारी विरोध-प्रदर्शन देखने को मिल रहा है, जिसको देखते हुए गुवाहाटी में कर्फ्यू लगा दिया गया है. इसके अलावा इन शहरों में भारी संख्या में सुरक्षा बल की तैनाती भी की गई है. आरपीएफ कुमार के महानिदेशक अरुण कुमार ने बताया कि रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) की 12 कंपनियों को क्षेत्र में भेजा गया है.

वहीं असम और त्रिपुरा में हो रहे हिंसक विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए रेलवे ने असम और त्रिपुरा आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनों को निलंबित कर दिया और लंबी दूरी वाली ट्रेनों को गुवाहाटी में ही रोका जा रहा है.

और पढ़ें: पीएम मोदी ने असम के लोगों को दिलाया भरोसा, कोई भी आपके अधिकारों को नहीं छीन सकता

रेलवे के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी. पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के प्रवक्ता सुभानन चंदा ने बताया कि सुरक्षा स्थिति को देखते हुए यह फैसला बुधवार रात में लिया गया, जिसके बाद कई यात्री कामाख्या और गुवाहाटी में फंस गए.

असम के मुख्यमंत्री के गृहनगर डिब्रूगढ़ के चबुआ में प्रदर्शनकारियों ने बुधवार रात एक रेलवे स्टेशन को आग लगा दी थी. इसके अलावा तिनसुकिया जिले में पानीटोला रेलवे स्टेशन को भी आग के हवाले कर दिया गया.

राज्य में नागरिकता संशोधन बिल को लेकर हो रहे संग्राम को देखते हुए असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने लोगों से अपील करते हुए कहा, 'मैं लोगों से शांति बनाए रखने और गुमराह न होने की अपील करता हूं.'

वहीं पीएम मोदी ने भी अपील करते हुए कहा, 'मैं असम के भाई-बहनों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि CAB के पारित होने के बाद उन्हें चिंता करने की कोई जरुरत नहीं है. मैं आश्वस्त कराना चाहता हूं कि आपका कोई भी अधिकार, पहचान और संस्कृति को नहीं छीना जाएगा न इसके साथ किसी भी तरह की छेड़छाड़ की जाएगी. ये ऐसे ही आगे भी फलता-फूलता रहेगा.'

वहीं बता दें कि नागरिकता बिल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस द्वारा लालुंगगांव में गोली चलाने की खबर भी सामने आई है. बतया जा रहा है कि इसमें कुछ लोग कथित तौर पर घायल हो गए. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने दावा किया कि प्रदर्शकारियों ने पुलिसकर्मियों पर पत्थरबाजी की और ईंटे फेंकी और पुलिस ने जब उन्हें शांत कराने की कोशिश की तो ये लोग वहां से नहीं हटे.

अधिकारी ने गोलीबारी में घायल लोगों की संख्या नहीं बताई लेकिन प्रदर्शनकारियों का दावा है कि कम से कम चार लोग घायल हुए हैं. गुवाहाटी में प्रदर्शनकारी कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए इस बिल के विरोध में बृहस्पतिवार को सड़कों पर उतरे. गुवाहाटी, डिब्रूगढ़, जोरहाट और तिनसुकिया में सेना के जवानों ने फ्लैगमार्च किया है.

ये भी पढ़ें: Citizenship Amendment Bill Live: कैब की आग में जला North-East, Left पार्टीयां करेंगी देशभर में प्रदर्शन

सेना ने एक बयान में कहा कि सेना के पांच कॉलम के लिए अनुरोध किया गया था और यह असम में तैनात हैं. असम के प्रभावशाली छात्र संगठन आसू और किसान संगठन केएमएसएस ने लोगों से कर्फ्यू का उल्लंघन करने का आह्वान किया है. गुवाहाटी में बुधवार शाम से अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है.

प्रदर्शनकारियों ने अम्बरोई क्षेत्र में वरिष्ठ भाजपा नेता हेमंत बिस्वा सरमा का पुतला जलाया. वहीं कॉटन विश्वविद्यालय और हंदीक गर्ल्स कॉलेज के विद्यार्थी भी कैब के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. एक प्रदर्शनकारी ने कहा, ‘‘ यह हमारे अस्तित्व की लड़ाई है.’’

First Published: Dec 12, 2019 01:27:28 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो