राष्ट्रपति चुनाव: विपक्षी एकता में बीजेपी ने लगाई सेंध, रामनाथ कोविंद के पक्ष में 'क्रॉस वोटिंग'

'क्रॉस वोटिंग' कांग्रेस के नेतृत्व वाली विपक्ष की चिंता बढ़ा दी है। दरअसल कई राज्यों में कांग्रेस, टीएमसी के विधायकों ने रामनाथ कोविंद के पक्ष में वोट किया।

  |   Updated On : July 21, 2017 12:15 PM
रामनाथ कोविंद (फोटो-PTI)

रामनाथ कोविंद (फोटो-PTI)

ख़ास बातें
  •  गुजरात, दिल्ली, गोवा, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल में रामनाथ कोविंद के पक्ष में 'क्रॉस वोटिंग'
  •  राजस्थान में बीजेपी को झटका, कई विधायकों ने विपक्षी दलों की उम्मीदवार मीरा कुमार को किया वोट
  •  आम आदमी पार्टी के दो विधायकों ने रामनाथ कोविंद के पक्ष में डाला वोट

नई दिल्ली:  

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दलित नेता रामनाथ कोविंद विपक्ष के उम्मीदवार मीरा कुमार को बड़े अंतर से हराकर 14 वें राष्ट्रपति चुने गये। जीत का अंतर इसलिए भी ज्यादा बढ़ा है क्योंकि गुजरात, दिल्ली, गोवा, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों में रामनाथ कोविंद के पक्ष में 'क्रॉस वोटिंग' हुई है। कोविंद ने मीरा कुमार को 334,730 के वोट मूल्य के अंतर से हराया है।

'क्रॉस वोटिंग' कांग्रेस के नेतृत्व वाली विपक्ष की चिंता बढ़ा दी है। दरअसल कई राज्यों में कांग्रेस, टीएमसी के विधायकों ने रामनाथ कोविंद के पक्ष में वोट किया। 

दिल्ली
दिल्ली में रामनाथ कोविंद को 6 और मीरा कुमार को 55 वोट मिले। दिल्ली विधानसभा में बीजेपी के मात्र 4 विधायक हैं। ऐसे में यह साफ है कि अरविंद केजरीवाल की पार्टी 'आप' के दो विधायकों ने कोविंद को वोट दिया। दिल्ली में 6 वोट रद्द किया गया है।

आम आदमी पार्टी ने राष्ट्रपति चुनाव से पहले मीरा कुमार को समर्थन देने का ऐलान किया था।

गुजरात
विधानसभा चुनाव से पहले गुजरात में भी जमकर 'क्रॉस वोटिंग' हुई है। जो कांग्रेस के लिए बुरी खबर लेकर आया है। गुजरात में रामनाथ कोविंद को 132 वोट मिले और मीरा कुमार को 49 वोट मिले।

और पढ़ें: मुफलिसी के दिन याद कर भावुक हुए रामनाथ कोविंद, कहा- बारिश में रात भर टपकती थी छत

गुजरात में कांग्रेस के 57 और बीजेपी के 121 विधायक हैं। आंकड़ों पर गौर करें तो 8 कांग्रेस विधायकों ने कोविंद के पक्ष में वोट किया। गुजरात में इसी साल के आखिरी में विधानसभा चुनाव होंगे। आपको बता दें की कांग्रेस नेतृत्व से पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला खेमा नाराज है।

राजस्थान
बीजेपी शासित राजस्थान में बीजेपी के कई विधायकों ने विपक्षी दलों की उम्मीदवार मीरा कुमार के पक्ष में वोट किया। राजस्थान में कांग्रेस के 24 विधायक हैं जबकि मीरा कुमार को 34 वोट पड़े। मीरा कुमार के बीएसपी के दो और निर्दलीय के 2 वोट मिले। बताया जा रहा है कि 6 वोट बीजेपी विधायकों ने दिये।

गोवा
गोवा में रामनाथ कोविंद को 25 वोट मिले जबकि मीरा कुमार को 11 वोट मिले। यहां कांग्रेस के 16 विधायक हैं। ऐसे में साफ है कि मीरा कुमार को 5 वोट कम मिले।

महाराष्ट्र
बीजेपी शासित महाराष्ट्र में भी क्रॉस वोटिंग हुई। रामनाथ कोविंद के पक्ष में 208 जबकि मीरा कुमार को 77 वोट पड़े। महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना के 185 विधायक हैं। जबकि कांग्रेस और शरद पवार की पार्टी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के 83 विधायक हैं। इस हिसाब से कांग्रेस-एनसीपी के कुछ वोट कोविंद के पक्ष में पड़े।

त्रिपुरा
त्रिपुरा में बीजेपी का एक भी विधायक नहीं होने के बावजूद एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को 7 वोट मिले। वहीं मीरा कुमार को 53 वोट मिले।

आपको बता दें की राष्ट्रपति चुनाव के दिन कांग्रेस के एक बागी विधायक और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) से बर्खास्त छह विधायकों ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को वोट देने का ऐलान किया था।

असम
असम में भी क्रॉस वोटिंग हुई है। यहां रामनाथ कोविंद को 91 वोट मिले जबकि मीरा कुमार को 35 वोट पड़े। असम में बीजेपी गठबंधन के पास 87 विधायक ही हैं। यानी कोविंद को उम्मीद से चार वोट ज्यादा मिले हैं। यह वोट कांग्रेस या अन्य दलों से मिले हैं।

और पढ़ें: रामनाथ कोविंद के जीतने पर मोदी, अमित शाह ने दी बधाई

निर्वाचक मंडल में 4,986 मतदाता थे, जिनके वोट का कुल मूल्य 10,98,903 था। 77 वोट अमान्य हो गए। कोविंद को कुल वैध मतों का 65.65 फीसदी प्राप्त हुआ, जबकि मीरा कुमार को 10,69,358 मूल्य के साथ 34.35 फीसदी वोट मिले। राष्ट्रपति चुनाव में सांसद और विधायक वोट देते हैं। कोविद को सांसदों के 522 वोट मिले जबकि मीरा कुमार को 225 वोट मिले।

के.आर. नारायणन के बाद रामनाथ कोविंद दूसरे दलित राष्ट्रपति होंगे। नारायणन 1997 से 2002 तक राष्ट्रपति रहे। कोविद बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रहे हैं। उन्होंने पार्टी के अनुसूचित जाति मोर्चा की 1999 से तीन साल तक अगुवाई की है। वह बीजेपी में शामिल होने से पहले आरएसएस में सक्रिय रहे हैं।

और पढ़ें: मीरा कुमार ने कहा- लड़ती रहूंगी दबे-कुचलों के लिए लड़ाई

First Published: Friday, July 21, 2017 08:29 AM

RELATED TAG: Presidential Election, Cross Voting, Gujarat, Delhi, Maharashtra, Tripura, Ram Nath Kovind,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो