नितिन गडकरी ने ऑड-ईवन की सफलता पर खड़े किए सवाल, कहा- कारण जाने बिना नहीं सुधरेंगे हालात

नितिन गडकरी ने सवाल खड़े करते हुए कहा कि जिस तरह से उत्तर भारत धुंध की चपेट में है उससे मुक्ति के लिए प्रदूषण पर मुकम्मल शोध और विश्लेषण की ज़रूरत है।

  |   Updated On : November 10, 2017 08:59 AM
नितीन गडकरी (फाइल फोटो)

नितीन गडकरी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

दिल्ली में सोमवार से ऑड-ईवन नियम लागू हो रहा है। वहीं केंद्रीय रोड ट्रांसपोर्ट और हाईवे मिनिस्टर नितिन गडकरी ने इस फॉर्मूले की सफलता पर सवाल खड़े किए हैं।

गुरुवार को नितिन गडकरी ने सवाल खड़े करते हुए कहा कि जिस तरह से उत्तर भारत धुंध की चपेट में है उससे मुक्ति के लिए प्रदूषण पर मुकम्मल शोध और विश्लेषण की ज़रूरत है। सिर्फ ऑड-ईवन लागू करने से प्रदूषण या धुंध से मुक्ति मिलेगी संदेह है।

गडकरी ने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद पटाख़े कम-से-कम जलाए गए। वहीं ऑटोमेबाइल्स और निर्माण का काम सालों से चल रहा है तो अब ऐसे हालात क्यों बन रहे हैं? इस समस्या से निदान के लिए मुद्दे के कारणों के बार में तफ्तीश से जानकारी जुटानी होगी।

केंद्रीय मंत्री ने सवाल खड़े करते हुए कहा, 'ऑड-ईवन काम करता अगर पहले इस बारे में जानने की कोशिश की जाती कि आख़िर के तीन दिन में ये हालात क्यों पैदा हुए? वो भी तब जब सालों भर ऑटोमोबाइल्स चल रहा है।'

दिल्ली में फिर ऑड-ईवन, AAP ने कहा-राजनीति से बाज आए कांग्रेस-बीजेपी

उन्होंने कहा, 'इस धुंध के पीछे कुछ और वजह है। मैं पर्यावरण मंत्री से इस बारे में बात करुंगा औऱ उनसे समस्या को समझने और उसके सामाधान के लिए किसी विशेषज्ञ की नियुक्ति के लिए कहूंगा।'

गडकरी से जब पूछा गया कि दिल्ली सरकार केंद्र सरकार पर सहयोग नहीं देने का आरोप लगा रही है तो उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि वो किस तरह की मदद चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि वायु प्रदूषण और जल प्रदूषण जैसी गंभीर समस्या को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

दिल्ली प्रदूषण: HC ने बताया, 'आपातकालीन स्थिति', कृत्रिम बारिश कराने का दिया सुझाव

बता दें कि दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में स्मॉग और प्रदूषण के बढ़ते स्तर के बीच दिल्ली सरकार ने गुरुवार को 13 से 17 नवंबर तक ऑड-ईवन नियम फिर लागू करने का फैसला किया है।

दिल्ली सरकार ने शहर में सभी ट्रकों की एंट्री पर भी बैन लगा दी है। हालांकि, जरूरत का सामान ढोने वालों को इससे छूट दी गई है।

साथ ही एनजीटी ने दिल्ली सरकार को निर्देश देते हुए 10 साल पुरानी डीजल गाड़ी और 15 साल पुरानी सभी पेट्रोल गाड़ियों को दिल्ली में आने से रोकने को भी कहा है। इतना ही नहीं भवन निर्माण का सामान ढो रहे ट्रक की एंट्री पर भी रोक लगाने का आदेश जारी किया है।

जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण के लिए मलेशिया से करेंगे अनुरोध: भारत

First Published: Friday, November 10, 2017 08:04 AM

RELATED TAG: Nitin Gadkari, Odd-even, Smog, Delhi Government, Automobiles, Construction, Pollution,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो