मध्यप्रदेश उपचुनाव: कोलारस में 25, मुंगावली में 30 फीसदी मतदान

मुंगावली और कोलारस की सीटें कांग्रेस विधायक के निधन के बाद खाली हुई थी। यह दोनों विधानसभा क्षेत्र ज्योतिरादित्य सिंधिया की लोकसभा सीट के अंतर्गत आती है।

  |   Updated On : February 28, 2018 11:01 PM
मध्यप्रदेश उपचुनाव

मध्यप्रदेश उपचुनाव

नई दिल्ली:  

मध्य प्रदेश में भारी सुरक्षा इंतजामों के बीच दो विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे चुनाव के लिए मतदान जारी है।

पहले साढ़े तीन घंटों में साढ़े 11 बजे तक कोलारस में 25 प्रतिशत और मुंगावली में 30 प्रतिशत मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके थे।

वहीं, कुछ स्थानों से कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच विवाद की खबरें मिली हैं। मुंगावली थाने के प्रभारी कुशल सिंह भदौरिया को हटा दिया गया है। 

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, शिवपुरी जिले के कोलारस और अशोकनगर जिले के मुंगावली उप-चुनाव के लिए मतदान सुबह आठ बजे से शुरू हुआ, जो शाम पांच बजे तक चलेगा।

आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी के अनुसार, सुबह से मतदान की रफ्तार काफी तेज है। मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतारें लगी हुई हैं।

सुबह 10 बजे तक जहां कोलारस में 16 और मुंगावली में 17 प्रतिशत मतदान हुआ था। वहीं, साढ़े 11 बजे तक मतदान बढ़कर 25 और 30 प्रतिशत पर पहुंच गया। साथ ही कोलारस में 15 और मुंगावली में 17 वीवीपेट मशीनों को बदलना पड़ा है। 

मतदान के दौरान कोलारस विधानसभा क्षेत्र के दिगोर गांव में कांग्रेसभाजपा कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई। मौके पर मौजूद सुरक्षा बलों ने स्थिति को संभाला।

इसी तरह मतदान क्रमांक 56 में भी विवाद की खबर मिली है। चुनाव आयोग के निर्देश पर मुंगावली के थाना प्रभारी कुशल सिंह भदौरिया को हटा दिया गया है। उनके स्थान पर रिशेश्वर सिंह को पदस्थ किया गया है। 

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह ने कोलारस और मुंगावली क्षेत्र के मतदाताओं से निर्भीक होकर मतदान करने की अपील की है। दोनों निर्वाचन क्षेत्रों में आज सार्वजनिक अवकाश है।

कांग्रेस और बीजेपी दोनों पार्टियों के लिए यह उपचुनाव बेहद महत्वपूर्ण है। जिस तरह से सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस उपचुनाव के लिए मेहनत की है उससे पता चलता है कि यह चुनाव बीजेपी के नज़रिए से कितना महत्वपूर्ण है।

वहीं कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया, कमलनाथ ने भी इस चुनाव के लिए अपना ढेर सारा पसीना बहाया है। कांग्रेस की यह जी तोड़ कोशिश बताती है कि मध्यप्रदेश चुनाव से पहले होने वाले इस उपचुनाव का राजनीतिक दृष्टिकोण से क्या महत्व है।

Live Update

# मध्यप्रदेश उपचुनाव: सुबह 10 बजे तक मुंगौली में 16 प्रतिशत और कोलारस में 17 प्रतिशत वोटिंग हुई है।

# मुंगौली में 15 वीवीपैट और कोलारस में 17 वीवीपैट में गड़बड़ियां पाई गई थी जिसको बदल दिया गया है। फिलहाल दोनो पोलिंग स्टेशन पर मतदान की प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरीके से चल रही है। 

बता दें कि मुंगावली और कोलारस की सीटें कांग्रेस विधायक के निधन के बाद खाली हुई थी। यह दोनों विधानसभा क्षेत्र ज्योतिरादित्य सिंधिया की लोकसभा सीट के अंतर्गत आती है।

ऐसे में काग्रेस के लिए चुनौती है कि वह अपनी पुरानी सीट को एक बार फिर से सुरक्षित कर सके। वहीं बीजेपी की कोशिश है कि वो कांग्रेस के गढ़ में सेंध लगा सके।

और पढ़ें- एक और 'नीरव मोदी' के खिलाफ FIR, OBC को 389 करोड़ रुपये का लगाया चूना

कोलारस उप-चुनाव में 22 तथा मुंगावली में 13 उम्मीदवारों के बीच मुकाबला है। कोलारस में सभी उम्मीदवार पुरुष तथा मुंगावली में 10 पुरुष एवं तीन महिला उम्मीदवार हैं।

कोलारस निर्वाचन क्षेत्र के 2,44,457 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर रहे हैं। इनमें 1,30,697 पुरुष, 1,13,753 महिला और सात थर्ड जेंडर शामिल हैं। मुंगावली में 1,91,009 मतदाता वोट डालेंगे। इनमें 1,02075 पुरुष, 88,933 महिला तथा एक थर्ड जेंडर मतदाता है।

कोलारस और मुंगावली के 575 मतदान केंद्रों के लिए तीन हजार से अधिक मतदान कर्मी तैनात किए गए हैं। दोनों निर्वाचन क्षेत्रों में 30-30 संवेदनशील मतदान-केंद्रों की वेबकास्टिंग करवाई जा रही है।

कोलारस में 311 में से 200 और मुंगावली में 264 में से 133 संवदेनशील मतदान-केंद्र हैं। उप चुनाव में ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीन भी लगाई गई हैं ताकि मतदाता देख सकें कि उन्होंने जो वोट दिया है वह सही है या नहीं।

और पढ़ें- AIADMK सरकार की अम्मा टू व्हीलर योजना का शुभारंभ करेंगे PM मोदी

 इसके लिए उन्हें सात सेकंड का समय मिलेगा। कोलारस में 835 और मुंगावली में 400 ईवीएम का उपयोग होगा। कोलारस में 440 और मुंगावली में 360 वीवीपेट लगाई गई हैं।

कोलारस और मुंगावली में सुरक्षा के चाक-चौबंद प्रबंध किए गए हैं। सभी मतदान-केंद्रों के आसपास कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। कोलारस में केंद्रीय अर्ध सैनिक बल की 10 कंपनी तैनात की गई हैं।

मध्यप्रदेश एसएएफ की तीन कंपनी के अलावा स्थानीय पुलिस बल और होमगार्ड भी क्षेत्र में तैनात किए गए हैं। मुंगावली में केंद्रीय अर्ध सैनिक बल की आठ तथा एसएएफ की तीन कंपनी तैनात की गई हैं। यहां स्थानीय पुलिस बल और होमगार्ड की व्यवस्था अलग से की गई है।

और पढ़ें: PNB घोटाला- PM ने तोड़ी चुप्पी, कहा-आर्थिक गड़बड़ियां स्वीकार नहीं

First Published: Saturday, February 24, 2018 08:22 AM

RELATED TAG: Madhyapradesh, Mungaoli, Kolaras, Madhya Pradesh By Polls,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो