माल्या का प्रत्यर्पण करा भारत तोड़ेगा भ्रम, अपराध कर विदेश जाने से नहीं बच सकते अपराधी

भारत सरकार इसके माध्यम से इस भ्रम को खत्म करना चाहती है कि कानून तोड़कर विदेश जाने से कोई भी बच सकता है।

  |   Updated On : April 18, 2017 08:00 PM

नई दिल्ली :  

विजय माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर ब्रिटेन की कोर्ट में भारतीय उच्चायोग और सीबीआई भारत का पक्ष रखेंगे। भारत सरकार इसके माध्यम से इस भ्रम को खत्म करना चाहती है कि कानून तोड़कर विदेश जाने से कोई भी बच सकता है।

सरकार के उच्च सूत्रों के अनुसार माल्या के प्रत्यर्पण की कोशिश कर रहा है। माल्या पर बैंकों से कर्ज़ लेकर वापस न करने का आरोप है।

सूत्रों का कहना है, 'हम इस भ्रम को खत्म करना चाहते हैं कि सीमा पार करके निकल भागने से आप बच सकते हैं। माल्या का प्रत्यर्पण इसकी परीक्षा होगी।'

ये भी पढ़ें: लोन डिफॉल्ट केसः शराब कारोबारी विजय माल्या लंदन में हुए गिरफ्तार, फिर मिली बेल

माल्या को भारत की अदालत ने भगोड़ा घोषित किया हुआ है। माल्या को मंगलवार को स्कॉटलैंड यार्ड ने भारतीय जांच एजेंसी सीबीआई के प्रत्यर्पण के अनुरोध पर गिरफ्तार किया गया था। लेकिन उन्हें लंदन की कोर्ट ने जमानत पर रिहा कर दिया है।

ये भी पढ़ें: विजय माल्या लंदन में हुए गिरफ्तार, क्या अब IPL के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की है बारी

इससे पहले माल्या को भारत वापस लाने के लिए भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने नई दिल्ली में ब्रिटेन के पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की थी।

इस बैठक में ब्रिटेन के गृह मंत्रालय के अधिकारियों के अलावा भारतीय विदेश मंत्रालय, सीबीआई, गृह मंत्रालय और इंटेलिजेंस ब्यूरो के अधिकारी शामिल हुए थे।

ये भी पढ़ें: यूपीः योगी आदित्यनाथ सरकार का फैसला, गोरखपुर, आगरा एयरपोर्ट के नाम बदले जाएंगे

20 और 21 फरवरी को दोनों देशों के बीच हुई बातचीत में दोनों पक्षों की ओर से इन मामलों में कानूनी प्रक्रिया की जानकारी दी गई थी। इसके बाद माल्या के भारत प्रत्यर्पण की राह आसान हो गई थी। पहले देश के कई न्यायालयों के अलावा सीबीआई व प्रवर्तन निदेशालय में भी माल्या के खिलाफ मामला चल रहा है।

आईपीएल की खबरों के लिये यहां क्लिक करें

First Published: Tuesday, April 18, 2017 07:45 PM

RELATED TAG: Vijay Mallya, Cbi, Indian High Commission,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो