चंडीगढ़ छेड़छाड़ केस में विकास बराला ने पीछा करने की बात कबूली, अपहरण की कोशिश से किया इंकार

चंडीगढ़ में आईएएस की बेटी से छेड़छाड़ करने के मामले में हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आशीष कुमार को पुलिस गुरुवार को चंडीगढ़ कोर्ट में पेश करेगी।

  |   Updated On : August 10, 2017 02:48 PM
चंडीगढ़ पुलिस ने किया विकास बराला और आशीष को गिरफ्तार (फोटो क्रेडिट- एएनआई)

चंडीगढ़ पुलिस ने किया विकास बराला और आशीष को गिरफ्तार (फोटो क्रेडिट- एएनआई)

नई दिल्ली:  

चंडीगढ़ में आईएएस की बेटी से छेड़छाड़ करने के मामले में हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आशीष कुमार को पुलिस गुरुवार को चंडीगढ़ कोर्ट में पेशी होनी है।

इस बीच खबरें आ रही हैं कि पूछताछ के दौरान विकास बराला ने वर्णिका कुंडू की कार का पीछा करने की बात कबूल कर ली है लेकिन अपहरण की कोशिश के आरोप से इंकार किया है।

चंडीगढ़ पुलिस ने बताया है कि पूछताछ में आरोपी विकास बराला और आशीष ने अपहरण की कोशिश के आरोपों से किया इनकार किया है। उन्होंने कहा है कि लड़की के अपहरण करने का कोई मकसद नहीं था। 

छेड़खानी के एक और मामले में घिरा सुभाष बराला का परिवार, HC ने मांगी राज्य सरकार से रिपोर्ट

इससे पहले बुधवार को घटे घटनाक्रम में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था और उन दोनों पर दो गैरजमानती धाराएं भी जोड़ी गई थीं। बुधवार को सुबह पुलिस ने दोनों लोगों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने समन भेजा था जिसे विकास बराला के लेने से इंकार करने के बाद पुलिस ने घर की दीवार पर चिपका दिया था।

इसके बाद पूछताछ के लिए पेश न होने पर चंडीगढ़ पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई पर विचार कर थी। हालांकि बाद में विकास बराला और उसके दोस्त आशीष के चंडीगढ़ सेक्टर 26 पुलिस स्टेशन पहुंचने के बाद उन दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

चंडीगढ़ के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) तेजिंदर एस. लूथरा ने बुधवार को बताया था कि शनिवार को आरोपियों ने चिकित्सकीय जांच के लिए अपने खून और पेशाब के नमूने देने से मना कर दिया था।

हरियाणा छेड़छाड़ मामला: सुभाष बराला ने कहा, वर्णिका मेरी बेटी जैसी, कानून अपना काम करेगा

लूथरा के मुताबिक, 'ड्यूटी पर मौजूद चिकित्सक खून और पेशाब के नमूने लेना चाहते थे, लेकिन लॉ ग्रेजुएट होने के नाते आरोपी भी अच्छी तरह कानून जानते हैं। इसलिए, उन्होंने नमूने देने से इनकार कर दिया। हालांकि इस तरह से इनकार करना जांच और मुकदमे के दौरान उनके विरुद्ध जा सकता है।'

घटना के पांच दिनों बाद पहली बार मीडिया के सामने आए डीजीपी ने कहा, 'मैं आश्वासन देता हूं कि मामले में इंसाफ के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।' दूसरी ओर हरियाणा में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने भी मामले से जुड़े हाई-प्रोफाइल आरोपियों से पल्ला झाड़ लिया है।

हरियाणा बीजेपी प्रवक्ता जवाहर यादव ने कहा, ' विकास बराला जांच में साथ देंगे या नहीं, इसका फैसला उन्हें करना है। बीजेपी का इससे कुछ नहीं लेना-देना है।'

कारोबार से जुड़ी और ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

First Published: Thursday, August 10, 2017 08:17 AM

RELATED TAG: Haryana, Chandigarh Stalking Case, Vikas Barala, Subhash Barala, Bjp,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो