दिवाली 2018 : जश्न मनाएं लेकिन पटाखे जलाने पर बरतें यह सावधानियां, नुकसान होने पर क्या करें?

आतिशबाजी के दौरान होने वाली थोड़ी भी लापरवाही हमारे लिए बहुत घातक हो सकती है. आतिशबाजी से जलने की घटनाएं आम हैं लेकिन इस तरह की घटनाओं से कैसे बचा जाए.

News State Bureau  |   Updated On : November 07, 2018 04:48 PM
दिवाली का जश्न (फोटो : IANS)

दिवाली का जश्न (फोटो : IANS)

नई दिल्ली:  

आज पूरा देश दिवाली के जश्न में डूबा हुआ है. रोशनी के इस त्यौहार में इस बार आतिशबाजी नहीं करने और इससे होने वाले प्रदूषण की चर्चा भी जोरों पर है. दिवाली में फोड़े जाने वाले पटाखों से नुकसान और इससे सावधानियों पर ध्यान देने की जरूरत है क्योंकि बच्चे और बड़े सभी दिवाली में पटाखे फोड़ने की मस्ती में खो जाते हैं. आतिशबाजी के दौरान होने वाली थोड़ी भी लापरवाही हमारे लिए बहुत घातक हो सकती है. दिवाली के दौरान आतिशबाजी से जलने की घटनाएं आम हैं लेकिन सवाल यह उठता है कि इस तरह की घटनाओं से कैसे बचा जाए.

दिवाली पर पटाखे फोड़ने के लिए इन सावधानियों को बरतें.

  • पटाखे हमेशा मान्यता प्राप्त दुकान से खरीदें और इस बात की कोशिश करें कि बच्चों को अकेले पटाखें खरीदने न जाने दें, और आप उनकी सुरक्षा का ध्यान रख कर उन्हें पटाखे दिलवाएं.
  • अक्सर बच्चे शैतानी करने के लिए पटाखे किसी बंद डिब्बे में डाल कर जलाते हैं, ऐसे में कई बार डब्बे के टूटने से बच्चों के घायल होने की संभावना भी होती है. इससे बेहतर होगा की आप उनको अकेले पटाखे न जलाने दें.
  • ऊनी सिल्क व कृतिम कपड़ों में आग बहुत जल्दी पकड़ लेती है, इससे बचने के लिए बेहतर होगा की पटाखे जलाते समय सूती कपड़े ही पहने.
  • जिस भी जगह आप पटाखे जला रहे हैं, वहां पानी से भरी बाल्टी जरूर रखें, ताकि गलती से कोई दुर्घटना हो जाए तो तुरंत पानी का प्रयोग किया जाए.
  • अपने पास हमेशा फस्र्ट ऐड किट तैयार रखें, साथ ही आपके पास बर्फ भी प्रयाप्त मात्रा में होनी चाहिए.

दिवाली में जलने पर सर्वाधिक प्रभावित हमारी त्वचा और आंखें ही होती है. ऐसे में जलने पर हमें किन बातों का ख्याल और क्या सावधानी रखनी चाहिए?

और पढ़ें : दिवाली पर Gold में निवेश बना देगा करोड़पति, 9 तक सस्‍ते में खरीदने का मौका

जल जाने की स्थिति में क्या करें

विशेषज्ञ बताते हैं कि अगर पटाखे से त्वचा जलती है तो जले हुए हिस्से को तुरंत पानी से धो ले और बर्फ लगाएं. अगर जलन मामूली है तो जले हुए हिस्से पर नारियल जैतून या फिर नीम का तेल भी लगा सकते हैं. इसके अलावा जले हुए हिस्से पर शहद या फिर एलोवेरा जेल भी लगा सकते हैं.

इसके अलावा अगर कोई गंभीर रूप से जल जाए तो उसे फौरन कंबल में लपेटें और अस्पताल ले जाएं. जले हुए व्यक्ति के कपड़े उतारने का प्रयास न करें, इससे जली हुई त्वचा पर बुरा प्रभाव पड़ने की संभावना होती है. जली त्वचा पर केले का पत्ता बांधना कारगर होता है, क्योंकि इससे ठंढक मिलती है और आराम भी.

और पढें : Diwali 2018: लक्ष्मी-गणेश पूजन इस शुभ मुहूर्त में कीजिए, मिलेगा मनचाहा फल ये है दिवाली पूजा सामग्री की लिस्‍ट

अगर पटाखे से आंखों में चिंगारी गई है तो फौरन आंखों को पानी धोएं और जल्द से जल्द अस्पताल जाएं. अगर कॉनटैंक्ट लेंस लगाते हैं तो दिवाली वाले दिन बिल्कुल न लगाएं और आंखों को पटाखों की तेज रोशनी से भी बचाएं. आंखों में चिंगारी या बारूद चला जाए तो उसे बिल्कुल न मलें, फौरन धो लें और चिकित्सक से संपर्क करें. पटाखे छूने के बाद अपनी आंखें न छुएं.

First Published: Wednesday, November 07, 2018 04:01 PM

RELATED TAG: Diwali Celebrations, Fire Crackers, Diwali 2018, Diwali, Pollution, Festivals,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो