J&K : पुंछ में भारत-पाक सीमा पर भारी गोलीबारी, कल शहीद हुए थे चार भारतीय सैनिक

जम्मू-कश्मीर में शनिवार को पाकिस्तान के सीजफायर चार भारतीय जवानों की मौत के बाद आज फिर पाकिस्तान ने सीमा पर ताबड़तोड़ गोलिया बरसाई।

  |   Updated On : December 24, 2017 07:52 PM
इंडियन आर्मी (फाइल फोटो)

इंडियन आर्मी (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर, एलओसी पर गोलीबारी जारी
  •  शनिवार को पाकिस्तान की गोलीबारी में मारे गए 4 भारतीय जवान

नई दिल्ली:  

जम्मू-कश्मीर में शनिवार को पाकिस्तान के सीजफायर में चार भारतीय जवानों की मौत के बाद आज दोनों देशों के बीच सीमा पर जबरदस्त गोलीबारी की जा रही है।

पाकिस्तानी की तरफ से पुंछ जिले में भारतीय चौकियों को निशाना बनाकर मोर्टार और स्वचालित हथियारों से ताबड़तोड़ फायरिंग की गई, जिसका भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है।

रक्षा अधिकारियों के मुताबिक पाकिस्तानी सेना ने शाहपुर इलाके में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर स्थित भारतीय चौकियों को निशाना बनाने के लिए मोर्टार, छोटे और स्वचालित हथियारों का इस्तेमाल किया।

अधिकारी के मुताबिक 'गोलीबारी दोपहर 1.30 बजे शुरू हुई जो अभी तक जारी है। वहीं दूसरी तरफ जम्मू-कश्मीर के शोपियां के एक गांव में भी आतंकियों के गोलीबारी की आवाज सुनी गई है। इसके बाद पुलिस और सेना की टीम पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रही है।

गौरतलब है कि राजौरी जिले के केरी सेक्टर में पाकिस्तान की फायरिंग में एक मेजर समेत चार भारतीय जवान शहीद हो गए थे।

पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा और अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर इस साल अबतक कुल 881 बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार ने लोकसभा को बताया था कि पाकिस्तान की तरफ सेे किए गए सीजफायर उल्लंघन से इस साल कुल 30 लोग मारे जा चुके हैं।

गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कहा कि पाकिस्तान ने 10 दिसंबर तक जम्मू-कश्मीर में एलओसी के पास कुल 771 बार और अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास 110 बार सीजफायर उल्लंघन किया है।

बॉर्डर के पास की इन सभी घटनाओं में 14 आर्मी जवानों, 12 नागरिकों और चार बीएसएफ जवानों सहित कुल 30 लोग मारे गए हैं।

एक लिखित प्रश्न का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को छोड़कर अन्य किसी राज्य में सीमा पार फायरिंग रिपोर्ट नहीं की गई, जो पाकिस्तान की सीमा से लगे हों।

एलओसी पर पिछले साल (2016) की तुलना में पाकिस्तान के द्वारा किया हुआ सीजफायर 230% ज्यादा है। पिछले साल यह संख्या मात्र 228 थी।

भारत और पाकिस्तान के बीच जम्मू-कश्मीर में एलओसी, अंतर्राष्ट्रीय सीमा और वास्तविक नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम की संधि नवंबर 2003 में हुई थी।

यह भी पढ़ें: सेना ने कहा सीज़फायर में शहीद जवानों के शवों के साथ नहीं हुई है छेड़छाड़

भारत पाकिस्तान के साथ 3,323 किलोमीटर लंबी सीमा को साझा करता है, जिसमे जम्मू-कश्मीर में एलओसी के 740 किलोमीटर और अंतर्राष्ट्रीय सीमा के 221 किलोमीटर आते हैं।

साल 2016 में सीजफायर उल्लंघन के 449 घटनाएं हुई थी, जिसमें 13 नागरिक और 13 सुरक्षाबल मारे गए थे। साथ ही 83 नागरिक और 99 सुरक्षाबल घायल भी हुए थे।

इसी महीने पाकिस्तान ने भी दावा किया था कि भारत ने इस साल एलओसी पर 1300 से ज्यादा बार सीजफायर उल्लंघन किया है, जिसमें उसके करीब 52 नागरिक मारे गए 175 घायल हुए।

यह भी पढ़ें: जयराम ठाकुर होंगे हिमाचल के अगले सीएम, विधायक दल की बैठक में लगी मुहर

First Published: Sunday, December 24, 2017 04:16 PM

RELATED TAG: Pakistan Firing, Pakistan Ceasefire Violation, Pakistan Mortar Shelling,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो