रेलवे में बॉयो-टॉयलेट्स की बुरी हालत, सीएजी की रिपोर्ट में हुआ खुलासा, करीब 2 लाख शिकायतें दर्ज

भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (सीएजी) ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि साल 2016-17 आमजन की करीब 2 लाख शिकायतें रेल में अवरोध, बदबू और गैर-कार्यात्मक जैव-शौचालयों (बायो टॉयलेट्स) की मिली है।

  |   Updated On : December 20, 2017 09:38 AM

नई दिल्ली:  

भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (सीएजी) ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि साल 2016-17 आमजन की करीब 2 लाख शिकायतें रेल में अवरोध, बदबू और गैर-कार्यात्मक जैव-शौचालयों (बायो टॉयलेट्स) की मिली है।

सीएजी ने अपनी रिपोर्ट 'भारतीय रेल के कोच में बॉयो-टॉयलेट्स का होना' में कहा गया है कि 613 ट्रेनों में से 32 कोचिंग डिपो में इसका संचालन किया गया, जिसमें परीक्षण में पाया गया कि 160 ट्रेनों में जैव-शौचालय नहीं थे।

रिपोर्ट में कहा गया है कि, 'बाकी 453 ट्रेनों में 25,080 जैव-शौचालय हैं, जिनमें 1,99,689 मामलों में कमी या शिकायतों पर गौर किया गया है।' 

CAG रिपोर्ट का खुलासा, 1.2 लाख करोड़ रुपये राजस्व मुकदमेबाजी में फंसे

1,02,792 शिकायतों में बायो टॉयलेट्स के संबंध में अवरोध की सबसे ज़्यादा शिकायत दर्ज की गई। इसके बाद सबसे ज़्यादा शिकायत बदबू (16,375) दर्ज की गई, फिर गैर-कार्यात्मक टॉयलेट्स (11,462), कूड़ादान न होने की (21,181), मग न होने की (22,899) जैसी शिकायतें मिली। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि अवरोध के 33.89 प्रतिशत मामले दक्षिण पश्चिम में बेंगलुरु कोचिंग डिपो में पाए गए जो अकेले रेलवे का बायो टायलेट्स के मामले में कुल 1.6 प्रतिशत हिस्सा रखता है। यहां एक बाय टॉयलेट्स साल में करीब 83 बार रुका।

सीएजी की यह रिपोर्ट साल 2014-15, 2016-17 के दौरान हुए ऑडिट पर निर्धारित थी जिसे मंगलवार को संसद में पेश किया गया था।

आयकर दाताओं के लिए शुरू होगी ई-असेसमेंट प्रक्रिया, सीबीडीटी ने गठित की कमेटी

इस रिपोर्ट के बाद मंत्रालय ने कहा कि इस समस्याओं का निपटान तत्परता से किया जा रहा है हालांकि यह माना की बायोटॉयलेट्स में अवरोध की समस्या यात्रियों के बेजा इस्तेमाल की वजह से हो रही है। साथ ही यह भी कहा गया कि स्टील डस्टबिन चोरी की वजह बनते हैं।

मंत्रायल ने सीएजी को बताया, 'चोरों के मामलों को कम करने के लिए चोरी विरोधी उपकरणों को लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं। यात्रियों को संवेदनशील बनाने के लिए नियमित यात्री जागरूकता ड्राइव भी किए जा रहे है और अवरोध के मामले अब कम हो गए हैं।'

यह भी पढ़ें: तैमूर के पहले बर्थडे के लिए सजने लगा पटौदी पैलेस, फोटो वायरल

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

First Published: Wednesday, December 20, 2017 09:30 AM

RELATED TAG: Cag, Railway, Bio Toilets, Trains,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो