औरंगजेब से तुलना होने पर अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ को सिखाया राजधर्म

योगी आदित्यनाथ के बयान के बाद अखिलेश यादव ने भी आदित्यनाथ पर पलटवार किया और 'राजधर्म' सिखाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के लिए हर पिता 'पितातुल्य' होना चाहिए।

  |   Updated On : September 08, 2018 02:42 PM
समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

लखनऊ:  

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बीच एक बार फिर जुबानी जंग तेज हो गई है। लखनऊ में शुक्रवार को आदित्यनाथ ने अप्रत्यक्ष रूप से अखिलेश यादव की तुलना औरंगजेब से की थी जिसने अपने पिता को जेल में बंद कर दिया था। योगी के बयान के बाद अखिलेश यादव ने भी आदित्यनाथ पर पलटवार किया और 'राजधर्म' सिखाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के लिए हर पिता 'पितातुल्य' होना चाहिए।

अखिलेश यादव ने शनिवार को ट्वीट कर कहा, 'मुख्यमंत्री के लिए हर पिता 'पितातुल्य' होना चाहिए, उन्नाव की बलात्कार-पीड़िता का वो बेबस पिता भी जिसको उनकी पुलिस ने मार-मार कर मार डाला। इसी प्रकार हर पुत्री 'पुत्रीतुल्य' होनी चाहिए, वो पुत्री भी जिसे काला झंडा दिखाने पर जेल की काल कोठरी में डाला गया। यही सच्चा राजधर्म है।'

शुक्रवार को लखनऊ में पिछड़ा वर्ग मोर्चा के एक कार्यक्रम में आदित्यनाथ ने कहा था, 'जो अपने बाप का और अपने चाचा का नहीं हुआ, वह आपको अपने साथ जोड़ने की बात कर रहा है।'

आदित्यनाथ ने कहा, 'आपने देखा होगा, इतिहास में एक पात्र आते हैं, कैसे उन्होंने अपने बाप को कैद करके रख दिया था। और इसीलिए कोई भी मुसलमान अपने पुत्र का नाम औरंगजेब नहीं रखता है। मुझे लगता है कि कुछ ऐसा-ऐसा समाजवादी पार्टी के साथ जोड़ा गया है। इतिहास अपने आप को दोहराता है और यह हो रहा है।'

अखिलेश यादव के ट्वीट पर बीजेपी प्रवक्ता हीरो बाजपेयी ने पलटवार करते हुए कहा कि अखिलेश यादव को पिता का महत्व समझने में इतने दिन लग गए।

अखिलेश यादव ने उन्नाव जिले में एक नाबालिग लड़की के साथ रेप मामले में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को लेकर योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा। रेप पीड़िता के पिता की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी।

और पढ़ें : ओमप्रकाश राजभर ने UP सरकार पर कसा तंज, राज्य में रोजगार को लेकर कही यह बात

न्यायिक हिरासत में रेप पीड़िता के पिता की हुई मौत मामले में बीजेपी विधायक के भाई अतुल सिंह सेंगर सहित 5 आरोपियों के नाम आरोप पत्र में दर्ज हुए थे। इन पांच आरोपियों में अतुल सिंह सेंगर के अलावा विनीत मिश्रा, बिरेन्द्र सिंह, राम शरण सिंह, शशि प्रताप सिंह हैं जो सभी उन्नाव जिले में माखी गांव के निवासी है। सीबीआई ने इनके खिलाफ हत्या और इससे संबंधित अन्य अपराधों का आरोप तय किया था।

उन्नाव के माखी थाना क्षेत्र की रहने वाली 17 वर्षीय लड़की ने बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर आरोप लगाया था कि जून 2017 में उन्होंने उसे बंधक बनाकर कई बार रेप किया था। लड़की का आरोप था कि विधायक के साथ-साथ उसके लोगों ने भी साथ में रेप किया था।

First Published: Saturday, September 08, 2018 02:21 PM

RELATED TAG: Akhilesh Yadav, Yogi Adityanath, Aurangzeb, Samajwadi Party, Up Cm, Uttar Pradesh, Bjp,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो