Air Pollution: दिल्ली में बढ़ा 6 गुना वायु प्रदूषण, अब तक जल चुके हैं 50 लाख किलो पटाखे

पुलिस ने दिवाली की रात राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में चलाए गए अभियान के दौरान 1,300 किलोग्राम पटाखे बरामद किया और 300 लोगों को गिरफ्तार किया।

IANS  |   Updated On : November 09, 2018 10:24 AM
दिल्ली में बढ़ा 6 गुना वायु प्रदूषण, अब तक जल चुके हैं 50 लाख किलो पटाखे (ANI)

दिल्ली में बढ़ा 6 गुना वायु प्रदूषण, अब तक जल चुके हैं 50 लाख किलो पटाखे (ANI)

नई दिल्ली:  

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की ओर से दिवाली पर पटाखे पर लगाई गई रोक का पूरी दिल्ली और एनसीआर में उल्लंघन किया गया. लोगों ने देर रात तक पटाखे जलाए, जिससे गुरुवार की सुबह इलाके में गहरा धुंध छा गया और वायु की गुणवत्ता में गिरावट (Air Pollution) आई. विशेषज्ञों के अनुसार, वायु की गुणवत्ता सामान्य से छह गुना ज्यादा खराब हो गई. पुलिस ने भी स्वीकार किया है कि आदेश का उल्लंघन किया गया. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार करीब 50 लाख किलो से ज्यादा पटाखे फोड़े गए हैं.

पुलिस ने कहा कि वह पटाखा विक्रेताओं के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करेगी. पुलिस ने दिवाली की रात राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में चलाए गए अभियान के दौरान 1,300 किलोग्राम पटाखे बरामद किया और 300 लोगों को गिरफ्तार किया. पुलिस के मुताबिक 600 से ज्यादा प्राथमिकी (FIR) दर्ज की गई. 

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने दिवाली के त्योहार पर पटाखे जलाने की अनुमति सिर्फ रात आठ बजे से 10 बजे तक दी थी. शीर्ष अदालत ने सिर्फ हरित पटाखे बनाने और बेचने की अनुमति दी थी, जिनमें कम प्रकाश और ध्वनि निकलती है और खतरनाक रसायन भी कम होता है.

और पढ़ें:   सुप्रीम कोर्ट का आदेश तार-तार, खूब हुई आतिशबाजी, दिल्ली-एनसीआर में पसरी धुंध की चादर

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट (सीएसई) के एक अधिकारी ने आईएएनएस को नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा, 'दिल्ली और एनसीआर की वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) बुधवार को रात आठ से नौ बजे के दौरान 150-160 दर्ज किया गया. उसके बाद इसमें धीरे-धीरे गिरावट आई और तड़के सुबह तीन बजे सूचकांक का स्तर 250 (गंभीर श्रेणी) को पार कर गया. एक्यूआई सुबह छह बजे में 300 (अत्यंत गंभीर श्रेणी) को पार कर गया. एक्यूआई सूचकांक में गिरावट पटाखे जलाने के कारण आई.'

सीएसई के पास दिल्ली और एनसीआर में पटाखे जलाने का कोई आंकड़ा होने के बारे में पूछे जाने पर अधिकारी ने बताया, 'इस बार सीएसई सही मायने में पटाखों पर ज्यादा गौर नहीं कर रहा है लेकिन प्रदूषण का स्तर दिल्ली-एनसीआर में 24 घंटे के भीरत मानक स्तर (60) से 6.5 गुना ज्यादा था.'

दिल्लीवासी सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा दिवाली पर तय समयसीमा रात 10 बजे के बाद भी पटाखे जलाते रहे. शीर्ष अदालत द्वारा पटाखों की बिक्री और उसके इस्तेमाल के लिए सख्त आदेश दिए जाने के बावजूद लोगों ने पड़ोस के बाजारों से अवैध तरीके से पटाखे खरीदे.

और पढ़ें:  पटाखों पर SC के आदेश का उल्लंघन, दिल्ली में 8-11 नवंबर तक ट्रकों की एंट्री पर लगा बैन

पूर्वी दिल्ली में आईपी एक्सटेंशन, मयूर विहार फेज-1 और फेज-2, दक्षिणी दिल्ली में लाजपत नगर, लुटियंस दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली में द्वारका और नोएडा के अधिकांश सेक्टरों में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश का उल्लंघन होने की रिपोर्ट आई है. 

First Published: Friday, November 09, 2018 07:59 AM

RELATED TAG: Delhi Pollution, Diwali Pollution, Delhi Diwali Pollution, Delhi Pollution Today, Masks Online, Sc Cracker Ban,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो