BREAKING NEWS
  • Bigg Boss की winner शिल्पा शिंदे बोलीं, मैं डंगे की चोट पर पाकिस्तान में करूंगी परफॉर्म- Read More »
  • PAK को भारत के साथ कारोबार बंद करना पड़ा भारी, अब इन चीजों के लिए चुकाने पड़ेंगे 35% ज्यादा दाम- Read More »
  • मुंबई के होटल ने 2 उबले अंडों के लिए वसूले 1,700 रुपये, जानिए क्या थी खासियत- Read More »

सावधान! अगर नहीं ले रहे हैं पूरी नींद तो खुद को खाने लगेगा आपका दिमाग

NEWS STATE BUREAU  |   Updated On : January 30, 2019 03:24 PM
कम सोना हो सकता है स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

कम सोना हो सकता है स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

नई दिल्ली:  

आज कल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों को अक्सर नींद न आने की शिकायत हो जाती है. ऐसा देखा गया है कि लोग इसे हल्के में ले लेते हैं लेकिन नींद न आना एक बड़ी समस्या है. ऐसे में क्या आपको भी नींद न आने की समस्या है? अगर हां तो ये आपके दिमाग के लिए ख़तरनाक हो सकता है. ज़्यादातर चिकित्सकों का यही मानना है कि स्वस्थ शरीर के लिए कम से कम 7 से 8 घंटे की अच्छी नींद बहुत ज़रूरी होती है. नींद पूरी न होने के कई बुरे प्रभाव भी शरीर पर होते हैं लेकिन हाल ही में हुए एक शोध में ये बात सामने आई है कि अगर आप पूरी नींद नहीं लेते तो आपका दिमाग खुद को ही खाना शुरू कर देता है. इससे अल्ज़ाइमर और मस्तिष्क संबंधी अन्य बीमारियां पैदा होने का खतरा बढ़ जाता है.

वैज्ञानिकों का मानना है कि जब शरीर में इकट्ठी ऊर्जा ख़त्म होने लगती है तो शरीर थकना शुरू हो जाता है और उसे नींद की ज़रूरत होती है. सोते समय शरीर का पूरा तंत्र बहुत तेज़ी से काम करता है और अपने लिए आवश्यक ऊर्जा भी पैदा कर लेता है. शरीर को अगले दिन फिर से सुचारू रूप से चलाने के लिए जितनी ऊर्जा की आवश्यकता होती है उसे बनने में कम से कम 8 घंटे का समय लगता है. हालांकि ये समय अलग - अलग उम्र में अलग - अलग होता है लेकिन एक व्यस्क शरीर में ये औसत 8 घंटे ही माना गया है.

यह भी पढ़ें- स्मोकिंग छोड़ने का सबसे प्रभावशाली तरीका आया सामने, लंदन की यूनिवर्सिटी में हुए शोध में सामने आई ये सच्चाई

शोधकर्ताओं ने अपने शोध में पाया कि लगातार ख़राब नींद लेने से दिमाग न्यूरॉन्स और सिनैप्सिस कनेक्शन के कुछ हिस्सों को खत्म करने लगता है और अगर आप सोचते हैं कि आप बाद में अपनी नींद पूरी कर लेंगे तो इससे जो खराबी हो चुकी होती है, वो ठीक नहीं होती. आठ घंटे से कम नींद लेने से आपके अंदर विचारों की पुनरावृत्ति भी उसी तरह बढ़ जाती है जैसा तनाव और घबराहट के मरीज़ों में होता है जिससे एकाग्रता में कमी होती है व दूसरे कई मनोरोग हो जाते हैं.

डॉक्टरों के अनुसार कम नींद लेने से इसका सबसे बुरा असर दिमाग पर सबसे ज्यादा पड़ता है और उससे कई दूसरी बीमारियां जैसे अल्ज़ाइमर, तनाव, अवसाद, मोटापा जन्म लेती हैं. इसलिए ये ज़रूरी है कि आठ घंटे की नींद ली जाए. कोशिश करनी चाहिए कि रात में 11 बजे से पहले ही सो जाएं.

First Published: Wednesday, January 30, 2019 12:29:09 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Brain Diseases, Alzheimer, Diseases, Complete Sleep, Sleep Deprivation, Sleepiness,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

न्यूज़ फीचर

वीडियो