BREAKING NEWS
  • ये है दुनिया का सबसे धनी परिवार, एक घंटे में होती है 28 करोड़ रुपये से भी ज्यादा कमाई- Read More »
  • आर्थिक मंदी से घबराए बीजेपी नेता के बेटे ने की आत्महत्या, एक साल पहले हुई थी शादी- Read More »
  • PKL 7: दबंग दिल्ली और बंगाल वॉरियर्स के बीच खेला गया रोमांचक मैच, 30-30 अंकों पर टाई हुआ मैच- Read More »

इस आईटी कंपनी ने दिया राजनीतिक पार्टियों को करोड़ों रुपये का चंदा

News State Bureau  |   Updated On : April 14, 2019 10:07 AM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

नई दिल्ली:  

देश की सबसे बड़ी आईटी (IT) कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (TCS) ने राजनीतिक पार्टियों को 220 करोड़ रुपये का चंदा दिया है. कंपनी की चौथी तिमाही के नतीजों में इसकी जानकारी दी गई है. TCS ने शुक्रवार को जनवरी-मार्च तिमाही के नतीजे जारी किए हैं. कंपनी ने चुनावी फंड के खर्च को अन्य खर्चों में शामिल किया है. बता दें कि कंपनी की यह अब तक सबसे बड़ा चुनावा डोनेशन है. हालांकि अभी तक किन पार्टियों को यह चंदा दिया गया है. इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है.

यह भी पढ़ें: Investment Mantra: निवेश के ये तरीके अपनाएंगे तो बन जाएंगे करोड़पति

राजनीतिक पार्टियों को टाटा कंसल्टेंसी ने दिया 220 करोड़ का चंदा

  • टीसीएस ने इससे पहले टाटा ट्रस्ट की ओर से 2013 में स्थापित प्रोग्रेसिव इलेक्टोरल ट्रस्ट (पीईटी) को चंदा दिया था.
  • TCS ने के मुताबिक राजनीतिक पार्टियों को इलेक्टोरल ट्रस्ट के जरिए 220 करोड़ रुपये दिए गए
  • प्रोग्रेसिव इलेक्टोरल ट्रस्ट ने एक अप्रैल, 2013 से लेकर 31 मार्च, 2016 के बीच कई राजनीतिक पार्टियों को चंदा दिया
  • भारत में कई इलेक्टोरल ट्रस्ट मौजूद हैं, जोकि कॉरपोरेट और राजनीतिक दलों के बीच मध्यस्थ हैं.
  • सभी इलेक्टोरल ट्रस्ट में सबसे बड़ा इलेक्टोरल ट्रस्ट प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट है, जिसके सबसे बड़े योगदानकर्ताओं में भारती ग्रुप और DLF हैं.

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY): छोटे व्यापारियों के बड़े सपने को साकार करने की स्कीम

क्या है चुनावी बॉन्ड (इलेक्टोरल बॉन्ड)
इलेक्टोरल बॉन्ड (चुनावी बॉन्ड) योजना को राजनीतिक चंदे के लिए नकदी का एक विकल्प है. राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे में पारर्दिशता लाने के लिए यह व्यवस्था शुरू की गई है. चुनावी बॉन्ड खरीदकर किसी पार्टी को देने से 'बॉन्ड खरीदने वाले' को कोई फायदा नहीं होगा. न ही इस पैसे का कोई रिटर्न है. ये पैसा पॉलिटिकल पार्टियों को दिए जाने वाले दान की तरह है.

First Published: Sunday, April 14, 2019 10:04 AM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Tcs, Election Fund, 220 Crore, It, Firm, Political Party, Loksabha, Lok Sabha Elections First Phase, First Phase 91 Lok Sabha Seats, Lok Sabha Election 2019, Lok Sabha Chunav 2019,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

न्यूज़ फीचर

वीडियो