अक्षय कुमार बोले- गांवों से ज्यादा शहरों के लिए अधिक महत्व रखती है 'टॉयलेट: एक प्रेम कथा'

अक्षय का कहना है कि भले ही उनकी यह फिल्म ग्रामीण परिवेश से संबंधित है, लेकिन यह ग्रामीण लोगों की तुलना में शहरी लोगों के लिए अधिक महत्वपूर्ण है।

  |   Updated On : July 29, 2017 07:47 AM
'टॉयलेट: एक प्रेम कथा' में अक्षय कुमार

'टॉयलेट: एक प्रेम कथा' में अक्षय कुमार

नई दिल्ली:  

अक्षय कुमार इन दिनों अपनी आगामी फिल्म 'टॉयलेट: एक प्रेम कथा' को लेकर चर्चा में हैं। फिल्म में अक्षय के साथ भूमि पेडनेकर और अनुपम खेर भी मुख्य भूमिकाओं में हैं।

अक्षय का कहना है कि भले ही उनकी यह फिल्म ग्रामीण परिवेश से संबंधित है, लेकिन यह ग्रामीण लोगों की तुलना में शहरी लोगों के लिए अधिक महत्वपूर्ण है।

बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार ने कहा, 'खुले में शौच का मुद्दा केवल ग्रामीण क्षेत्रों की समस्या नहीं है। यह शहरों में भी एक बड़ी समस्या है, बल्कि बड़े शहरों में यह परेशानी ग्रामीण क्षेत्रों की तुलना में अधिक खतरनाक है। हम कंक्रीट के जंगल में रहते हैं और ऐसे में यहां रोगाणु और बैक्टीरिया अधिक तेजी से फैलता है।'

और पढ़ें: गुलाम एक्ट्रेस नीति टेलर को इस वजह से मेकर्स ने दिखाया बाहर का रास्ता

उन्होंने कहा, 'एक पल के लिए भी ऐसा न सोचें कि यह फिल्म ग्रामीण क्षेत्रों के लिए है। यह शहरी लोगों से भी संबंधित है, क्योंकि गांवों की तुलना में शहरों में इससे ज्यादा खतरा है।'

और पढ़ें: 'टॉयलेट: एक प्रेमकथा' की रिलीज से पहले अक्षय कुमार का बड़ा खुलासा

फिल्म 11 अगस्त को रिलीज होगी।

आईएएनएस इनपुट

First Published: Saturday, July 29, 2017 07:32 AM

RELATED TAG: Akshay Kumar, Toilet Ek Prem Katha,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो