महाराष्‍ट्र चुनाव परिणामः बीजेपी को शिवसेना ने दिखाई आंखें, उद्धव ठाकरे के बयान के ये हैं मायने

Drigraj Madheshia  |   Updated On : October 24, 2019 06:26:59 PM

नई दिल्‍ली:  

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव नतीजा आते ही शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सौदेबाजी करनी शुरू कर दी है. उन्‍होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में महाराष्ट्र की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि मिले नतीजे से खुश हूं. हम जनता के मुताबिक काम करेंगे. महाराष्‍ट्र में सीएम कौन बनेगा इसको लेकर उन्होंने कहा कि 50-50 फार्मूले पर शिवसेना नहीं झुकेगी. वहीं मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि पिछले 5 साल में जितना काम किया है. उससे अच्छा काम कर के दिखाएंगे. आइए 10 प्‍वाइंट में समझें शिवसेना के इस बदले हुए रूप के क्‍या मायने हैं...

  1. 2014 के विधानसभा चुनावों में बीजेपी की पुरानी सहयोगी शिवसेना ने साथ छोड़ दिया और दोनों अलग-अलग मैदान में उतरे. शिवसेना को 63 सीटें मिलीं और बीजेपी पहली बार बड़ी पार्टी के रूप में उभरी और 122 सीटें हासिल कीं, लेकिन बहुमत से दूर रही.
  2. चुनाव बाद दोनों में फिर गठबंधन हुआ और शिवसेना सरकार में शामिल हुई. शिवसेना के विधायकों को कम महत्‍व वाले मंत्रालय मिले. इसकी टीस उद्धव ठाकरे ऐसी लगी कि वो सरकार में रहते हुए भी फडणवीस और केंद्र सरकार की आलोचना करने से नहीं चूकते.
  3. इस बार के चुनाव में बीजेपी 150 सीटों पर और शिवसेना 122 सीटों पर चुनाव लड़ी. इस बार बीजेपी के खाते में 100 और शिवसेना की झोली में 57 सीटें आती नजर आ रही हैं. बीजेपी इस बार भी बड़े भाई की भूमिका में है पर वजन पहले से घट गया है. ऐसे में उद्धव इसका पूरा फायदा उठाना चाहते हैं.
  4. गुरुवार के प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं सत्ता के लिए कुछ भी नहीं करूंगा. जब पत्रकार ने पूछा कि अगला सीएम कौन होगा तो उन्होंने कहा कि यह अहम सवाल होगा. पत्रकार ने जब पूछा कि अगला सीएम शिवसेना से होगा तो उन्होंने कहा कि आपके मुंह में घी शक्कर.
  5. यानी उद्धव की नजर अब सीएम की कुर्सी पर है. उन्होंने कहा कि पुराना प्रेस कॉन्फ्रेंस निकाल कर देख लीजिए, पता चल जाएगा. मुख्यमंत्री का मसला अहम है. उन्होंने कहा कि हम 50-50 के फॉर्मूले पर पीछे नहीं हटेंगे.
  6. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजों पर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बड़ा बयान दिया है. गुरुवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस में उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा? ये बड़ा सवाल है, क्योंकि मुख्यमंत्री का मसला अहम है. उन्होंने कहा कि हम 50-50 के फॉर्मूले पर पीछे नहीं हटेंगे.
  7. दरअसल 50-50 फार्मूले का मतलब राज्‍य में ढाई साल सीएम शिवसेना का और ढाई साल बीजेपी का. लेकिन राजनीतिक विश्‍लेषकों का मानना है कि इस शर्त को बीजेपी शायद ही माने.
  8. गुरुवार को देवेंद्र फडणवीस ने चुनाव परिणाम को लेकर जो कुछ भी कहा उससे तो यही लगता है. फडणवीस ने कहा कि बीजेपी ने 2014 में 260 सीटों पर चुनाव लड़ा और 122 सीटों पर जीत दर्ज की, इस बार हमने 164 सीटों पर सहयोगियों के साथ चुनाव लड़ाया. पिछली बार हमारा स्ट्राइक रेट 47 फीसदी रहा, लेकिन इस बार 70 फीसदी स्ट्राइक रेट रहा है. इसके अलावा हमारा वोट प्रतिशत भी बढ़ा है.
  9. देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि जो नेता, उम्मीदवार हमें छोड़ कर गए थे और जिन्होंने बगावत की थी, उससे पार्टी को नुकसान हुआ है. लेकिन ऐसा 15 लोग हैं जो पार्टी के संपर्क में हैं, ऐसे में उनसे बात की जाएगी.
  10. जबकि बात उद्धव ठाकरे की करें तो वो 70 साल में पहली बार ठाकरे परिवार से कोई चुनाव मैदान में उतरा और जीत दर्ज की. इसको लेकर उद्धव कहते हैं कि हमें आदित्य की जीत पर अभिमान है. लोग उसे प्रेम और आशीर्वाद दे रहे हैं. यानी उद्धव को अपने बेटे आदित्य ठाकरे के लिए राजनीतिक भविष्‍य तय करने का इससे अच्‍छा मौका नहीं है. शायद इसीलिए शिवसेना बीजेपी से आंखें तरेर रही है.

First Published: Oct 24, 2019 05:57:11 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो