BREAKING NEWS
  • पीएम मोदी की तारीफ से मुश्‍किल में पड़ गया यह केरल का दंपति, समुदाय ने बस्ती से निकाला- Read More »
  • महाराष्ट्र: बैठक के बाद बोले पृथ्वीराज चव्हाण- तीनों दलों के बीच कल भी जारी रहेगी बातचीत- Read More »

UNHRC में मुंह की खाने के बाद इमरान खान का पीओके में नया 'पैतरा'

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : September 12, 2019 07:03:11 PM
बाज नहीं आने वाले पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम इमरान खान.

बाज नहीं आने वाले पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम इमरान खान. (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  यूएनएचआरसी में कश्मीर पर मुंह की खाने के बाद बाद पाकिस्तान का नया पैतरा.
  •  शुक्रवार को पाक अधिकृत कश्मीर में पॉलिसी स्टेटमेंट पेश करेंगे इमरान खान.
  •  भारती कश्मीर समेत अन्य समस्याओं को मानता है दि्वपक्षीय.

नई दिल्ली:  

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान शुक्रवार को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) की राजधानी मुजफ्फराबाद में जनसभा को संबोधित करेंगे. पाकिस्तान ने उस जनसभा के बारे में गुरुवार को बताया कि इमरान इस संबोधन के दौरान कश्मीर पर पाकिस्तान का 'पॉलिसी स्टेटमेंट' पेश करेंगे. पाकिस्तानी विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने गुरुवार को मीडिया से साप्ताहिक मुलाकात के दौरान कहा कि पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के लिए किसी भी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता मानने को तैयार है. उन्होंने कहा कि समझौता अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत होनी चाहिए.

यह भी पढ़ेंः कुलभूषण जाधव मामले में भारत का कूटनीतिक प्रयास जारी, ICJ के आदेश को पूरी तरह लागू करे पाकिस्तानः विदेश मंत्रालय

पाकिस्तान तीसरे पक्ष की मध्यस्थता को तैयार
फैसल ने कहा, '(कश्मीर पर) मध्यस्थता की पेशकश हुई थी, लेकिन भारत तैयार नहीं है. हम इसके लिए तैयार हैं. हमारी सोची-समझी नीति है कि बातचीत के जरिए सारी समस्याएं सुलझाई जा सकती हैं.' उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान मुजफ्फराबाद की रैली में कश्मीर पर एक पॉलिसी स्टेटमेंट का खुलासा करेंगे. यह बयान उस समय आया है जब यूएनएचआरसी में कश्मीर मसले पर पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी है.

यह भी पढ़ेंः भारत में 'धमाका' करने के फिराक में नीच पाकिस्तान, LoC के लॉन्च पैड पर देखी गई रबड़ की नाव

भारत कश्मीर को दि्पक्षीय मसला मानता है
भारत का स्टैंड है कि कश्मीर उसके और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा है और इसमें तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की कोई गुंजाइश नहीं है. नई दिल्ली पाकिस्तान को यह भी साफ-साफ कह चुका है कि सीमापार आतंकवाद और बातचीत, दोनों एकसाथ नहीं हो सकते. पाकिस्तानी फॉरन ऑफिस ने कहा, 'कश्मीरी संघर्ष के प्रक्रिया है, न कि कोई घटना. हमने कुछ कदम उठाए हैं और बहुत सी पहल करने वाले हैं.'

First Published: Sep 12, 2019 06:35:58 PM
Post Comment (+)

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

वीडियो