23 साल की छात्रा से यौन शोषण के आरोप में 72 वर्षीय स्‍वामी चिन्‍मयानंद शाहजहांपुर से गिरफ्तार

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : September 20, 2019 12:24:09 PM
यौन शोषण के आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री स्‍वामी चिन्‍मयानंद गिरफ्तार

यौन शोषण के आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री स्‍वामी चिन्‍मयानंद गिरफ्तार (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली :  

यौन शोषण के आरोप में पूर्व केंद्रीय मंत्री स्‍वामी चिन्‍मयानंद को गिरफ्तार कर लिया गया है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित एसआईटी और शाहजहांपुर पुलिस ने स्‍वामी चिन्‍मयानंद को गिरफ्तार किया गया है. चिन्‍मयानंद पर कानून की पढ़ाई कर रही छात्रा ने यौन शोषण का आरोप लगाया था. गिरफ्तारी के बाद स्‍वामी चिन्‍मयानंद को कोर्ट में पेश किया जाएगा. अभी शाहजहांपुर के जिला अस्‍पताल में स्‍वामी चिन्‍मयानंद का मेडिकल कराया जा रहा है.

यह भी पढ़ें : शादीशुदा जोड़ों को भारतीय रेलवे देने जा रहा ये शानदार गिफ्ट, पढ़ें पूरी खबर

एसआईटी ने मुमुक्षु आश्रम से शुक्रवार सुबह चिन्मयानंद को गिरफ्तार किया. टीम की अगुवाई कर रहे आईजी नवीन अरोड़ा के निर्देश पर उन्‍हें गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तारी के बाद आज एसआईटी उन्‍हें कोर्ट में पेश करेगी. 16 सितंबर को पीड़ित छात्रा ने एसीजेएम कोर्ट में 164 के तहत दिए बयान में स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए थे. पीड़ित के बयान के बाद से ही चिन्मयानंद पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही थी.

\बता दें कि 23 वर्षीय कानून की छात्रा ने सोशल मीडिया (Social Media) पर शोषण के आरोप संबंधी वीडियो पोस्ट (Video Post) किए थे. छात्रा ने सोशल मीडिया पर जो वीडियो अपलोड किया था वो स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) के लॉ कॉलेज की ही छात्रा है. वीडियो में छात्रा रो-रोकर स्वामी चिन्मयानंद पर इल्जाम लगा रही है कि 'संत समाज के एक बहुत बड़े नेता' ने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद की है और अब उसकी हत्या करना चाहते हैं. इस वीडियो के वायरल होने के बाद से ही छात्रा गायब हो गई थी. बाद में उत्‍तर प्रदेश पुलिस ने राजस्‍थान से छात्रा को बरामद किया था.

स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम की छात्रा ने वायरल वीडियो में कहा था, 'संत समाज के एक बहुत बड़ा नेता जो कि बहुत लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर चुका है और मुझे भी जान से मारने की धमकी देता है. मेरा मोदी जी और योगी जी से अनुरोध है कि वह प्लीज मेरी मदद करें. उसने मेरे परिवार तक को मारने की धमकी दी है, लेकिन मेरे पास उसके खिलाफ सारे सबूत हैं. आपलोगों से आग्रह है कि प्लीज मुझे इंसाफ दिलाइये.'

यह भी पढ़ें : 'हाउड़ी मोदी' कार्यक्रम से पहले ह्यूस्‍टन में इमरजेंसी घोषित, जानें क्‍यों?

स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) राम मंदिर आंदोलन के बड़े नेता रहे हैं और एनडीए सरकार में गृह राज्य मंत्री रह चुके हैं. शाहजहांपुर में उनका आश्रम भी है, जहां वो एक लॉ कॉलेज भी चलाते हैं.

छात्रा के पिता की तहरीर पर शहर कोतवाली में चिन्मयानंद के विरुद्ध लड़की का अपहरण करने एवं जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज करा दिया था. बाद में यह मामला उच्चतम न्यायालय पहुंच गया था, जिसके निर्देश पर प्रकरण की जांच के लिये एसआईटी गठित की गई है. लड़की को हाल ही में राजस्थान में बरामद किया गया था.

यह भी पढ़ें : अमेरिका में व्‍हाइट हाउस के बाहर अंधाधुंध फायरिंग, एक की मौत और 5 लोग घायल

इससे पहले स्‍वामी चिन्‍यानंद ने मीडिया के सामने आकर कहा था कि मेरी छवि को धूमिल और कलंकित करने की कोशिश की जा रही है. ऐसा करने वालों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि मुझे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है. स्वामी चिन्मयानंद ने कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है और पूरे मामले की जांच एसआईटी कर रही है, इसलिए ज्यादा कुछ बोलना ठीक नहीं. उनका कहना है कि वह कॉलेज को विश्वविद्यालय बनाना चाहते हैं, लेकिन कॉलेज के ही कुछ लोगों को ये रास नहीं आ रहा है.

First Published: Sep 20, 2019 09:55:43 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो