BREAKING NEWS
  • कमलेश तिवारी हत्याकांड: अखिलेश बोले- योगी ने ऐसा ठोकना सिखाया कि किसी को पता नहीं कि किसे ठोकना है- Read More »

तमिलनाडु में NIA ने मारे ताबड़तोड़ छापे, देश को दहलाने की फिराक में थे आतंकवादी गिरोह

News State Bureau  |   Updated On : July 13, 2019 10:24:00 PM
nia-raid-continuous-in-tamilnadu-chennai-terrorist-gang

nia-raid-continuous-in-tamilnadu-chennai-terrorist-gang (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  तमिलनाडू में एनआईए ने मारे छापे
  •  गिरोह देश को दहला देने की फिराक में थे
  •  चेन्नई में आतंकवादी गिरोह बनाया था

नई दिल्ली:  

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने तमिलनाडू में कई जगह ताबड़तोड़ छापे मारे. छापा मारकर आतंक के गिरोह के मंसूबे पर पानी फेर दिया. ये गिरोह देश को दहलाने की फिराक में थे. NIA ने प्रदेश की राजधानी चेन्नई स्थित सैयद मोहम्मद बुखारी के घर और ऑफिस में छापा मारा. साथ ही हसन अली और हरीश मोहम्मद के नागापट्टिनम स्थित घर पर भी छापा मारा. ये गिरोह केंद्र सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने की फिराक में थे. वे आतंकवादी गिरोह अंसारुल्ला बनाकर देश को दहलाना चाहता था. इसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

यह भी पढ़ें - ICC की महत्वपूर्ण बैठक में इस देश पर लग सकता है बैन, जानें क्या है कारण

छापेमारी के बाद NIA ने बयान जारी की है. जिसमें कहा गया है कि मामले में आईपीसी की धारा 120 बी, 121ए और 122 के साथ ही गैरकानूनी एक्ट की धारा 17, 18, 18-बी, 38 और 39 के तहत मामला दर्ज किया गया है. यह मामला 9 जुलाई को दर्ज किया गया था. खुफिया जानकारी मिलने के बाद मामले में छापेमारी की गई है.

यह भी पढ़ें - World Cup: कप्तान इयोन मोर्गन ने बताया आखिर क्यों खास है यह इंग्लैंड टीम

इस छापेमारी के दौरान NIA को 9 मोबाइल, 15 सिम कार्ड, 7 मेमोरी कार्ड, 3 लैपटॉप, 5 हार्ड डिस्क, 6 पेन ड्राइव, 2 टैबलेट और 3 सीडी/डीवीडी के अलावा कुछ दस्तावेज भी बरामद हुए हैं. इसमें मैगजीन, बैनर, नोटिस, पोस्टर और किताबें हैं. इस मामले में एनआईए ने तीन आरोपियों से पूछताछ भी की है.

एनआईए का कहना है कि आरोपी सैयद मोहम्मद बुखारी, हसन अली और मोहम्मद युसुफुद्दीन और उसके सहयोगियों ने बड़े पैमाने पर फंड जुटाया है. ये लोग भारत में आतंकी हमलों को अंजाम देने की तैयारी कर रहे थे. इन आतंकियों का मंसूबा भारत में इस्लामिक राज्य की स्थापना करना है. गैर कानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम के तहत इन संदिग्धों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. 

First Published: Jul 13, 2019 10:15:43 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो