MP: सागर में जिंदा जलाए गए दलित युवक ने तोड़ा गम, सियासत शुरू

IANS  |   Updated On : January 23, 2020 04:08:52 PM
MP: सागर में जिंदा जलाए गए दलित युवक ने तोड़ा गम, सियासत शुरू

सागर में जिंदा जलाए गए दलित युवक ने तोड़ा गम, सियासत शुरू (Photo Credit : फाइल फोटो )

सागर:  

मध्य प्रदेश के सागर (Sagar) जिले में आपसी विवाद के चलते मिट्टी का तेल डालकर जिंदा जलाए गए धन प्रसाद अहिरवार की उपचार के दौरान गुरुवार को दिल्ली में मौत (Death) हो गई. धन प्रसाद की मौत पर मुख्यमंत्री ने शोक जताया है, वहीं नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव (Gopal Bhargava) ने शासन-प्रशासन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है. गौरतलब है कि मोती नगर थाना क्षेत्र में बालाजी मंदिर के पास स्थित अयोध्या बस्ती प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बने आवास में रहने वाले धन प्रसाद अहिरवार (24) पर आपसी विवाद के चलते कुछ लोगों ने मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी.

यह भी पढ़ेंः MP: ऊंची आवाज में बात करने पर भड़के मंत्री जी, अपनी ही पार्टी के नेता को डांटकर भगाया

धन प्रसाद को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उसे उपचार के लिए भोपाल और फिर दिल्ली भेजा गया. उसकी गुरुवार को उपचार के दौरान मौत हो गई. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने धनी प्रसाद के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि सागर निवासी युवक धन प्रसाद अहिरवार की दिल्ली में इलाज के दौरान दुखद मृत्यु का समाचार प्राप्त हुआ, परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं. उन्होंने कहा कि 'दुख की इस घड़ी में परिवार के साथ सरकार खड़ी है. परिवार की हर संभव मदद के निर्देश.'

यह भी पढ़ेंः निर्भया के दोषियों को डेथ वारंट जारी करने वाले जज एसके अरोड़ा का तबादला

वहीं नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने शासन और प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा, 'आखिरकार मध्यप्रदेश में शासन-प्रशासन की लापरवाही ने सागर के दलित युवक धन प्रसाद अहिरवार की जान ले ली. समय रहते कमलनाथ सरकार अगर दलित युवक की सुध ले लेती तो आज उस युवक की जान बचाई जा सकती थी.' बता दें कि धन प्रसाद को जिंदा जलाने के आरोप में चार युवकों को गिरफ्तार किया जा चुका है. आरोपी एक समुदाय के बताए जाते हैं.

First Published: Jan 23, 2020 04:08:52 PM

RELATED TAG:

न्यूज़ फीचर

वीडियो