BREAKING NEWS
  • RBI गवर्नर का बड़ा बयान, कहा-वैश्विक विकास धीमा, लेकिन दुनिया में नहीं है कोई मंदी- Read More »

Netflix की अगुवाई में ओटीटी प्लेटफॉर्म्स भारत में केबल टीवी के लिए बने खतरा: रिपोर्ट

आईएएनएस  |   Updated On : August 23, 2019 06:00:00 AM
सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्ली:  

नेटफ्लिक्स और अन्य ओवर-द-टॉप (ओटीटी) प्लेटफॉर्म्स धीरे-धीरे लेकिन लगातार केबल टीवी कारोबार को खत्म कर रहे हैं. इस बात को खुलासा केपीएमजी की एक नई रिपोर्ट में हुआ है. इसमें कहा गया है कि वित्त वर्ष 2019 में केबल और सेटेलाइट (सीएंडएस) के करीब 1.2-1.5 करोड़ सक्रिय ग्राहकों की संख्या कमी आई है. वित्त वर्ष 2019 में ग्राहकी राजस्व की वृद्धि दर अच्छी खासी 8.1 फीसदी रही, जो कि 463 करोड़ रुपये तक पहुंच गई.

ये भी पढ़ें- हैवान दादी ने 2 साल की बच्ची को खौलते हुए पानी में डुबोया, तस्वीरें देख उड़ जाएंगी रातों की नींद

केपीएमजी ने अपनी इंडियाज 'डिजिटल फ्यूचर : मास और निचेज' रिपोर्ट में कहा, "साल 2018 के अंत क सीएंडएस ग्राहकों की संख्या बढ़कर 19.7 करोड़ हो गई थी, जिसमें सबसे ज्यादा ग्राहक डिजिटल केबल के थे. लेकिन पिछली तिमाही में इसमें 1.2-1.5 करोड़ की गिरावट आई है." ग्राहकों की इस संख्या में गिरावट का मुख्य कारण ग्राहकी को रिन्यूनबल नहीं कराना, ओटीटी जैसे मनोरंजन के अन्य तरीकों की तरफ रुख करना और नए टैरिफ ऑर्डर (एनटीओ) के कारण शुल्क बढ़ना बताया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- सार्वजनिक पार्क में खुलेआम सेक्स कर रहे 6 बुजुर्ग गिरफ्तार, 82 साल के पति के साथ 85 साल की पत्नी भी थी शामिल

रिपोर्ट में कहा गया, "इसका नतीजा है कि केबल टीवी का राजस्व पिछली तिमाही में घट गया और इसके ग्राहक केबल का ज्यादा बिल आने के कारण ओटीटी की तरफ जा रहे हैं." पहली तीन तिमाहियों में डीटीएच और केबल ऑपरेटर दोनों का प्रति यूजर औसत राजस्व (एआरपीयू) स्थिर रहा, जबकि आखिरी तिमाही में इसमें 10-25 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई.

First Published: Aug 23, 2019 06:00:00 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो