DRDO ने हवा में मार करने वाली मिसाइल 'अस्‍त्र' का किया सफल परीक्षण, 70KM दूर से लगाएगा निशाना; देखें Video

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : September 17, 2019 06:12:06 PM
अस्त्र मिसाइल का सफल परीक्षण (ANI)

अस्त्र मिसाइल का सफल परीक्षण (ANI) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने सोमवार को हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल अस्‍त्र का सफल परीक्षण किया है. सुखोई-30एमकेआई (Su-30MKI) लड़ाकू विमान से इस मिसाइल का टेस्ट किया गया. पश्चिम बंगाल के एक एयर बेस से विमान ने उड़ान भरी थी. 26 सितंबर 2018 को देश में बनी यह मिसाइल 70 किलोमीटर दूर तक मार करने में सक्षम है. डीआरडीओ द्वारा विकसि‍त की गई इस मिसाइल ने परीक्षण के दौरान हवा में तैर रहे लक्ष्य पर सटीक निशाना साधा था.

यह भी पढ़ेंःडीके शिवकुमार की जमानत याचिका पर राउज एवेन्यू कोर्ट में जारी है बहस

यह मिसाइल अपनी श्रेणी की हथियार प्रणालियों में सर्वश्रेष्ठ है. अभी तक इसके कई परीक्षण किए जा चुके हैं. यह मिसाइल सुखोई-30एमकेआई जैसे लड़ाकू विमान पायलटों को 70 किलोमीटर दूर से ही दुश्मन विमानों को मार गिराने की क्षमता देती है. यह हवा से हवा में मार करने वाली भारत द्वारा विकसित पहली मिसाइल है. इसे मिराज 2000एच, मिग 29, सी हैरियर, मिग 21 और सुखोई एसयू-30 एमकेआई विमानों में लगाया जा सकता है.

भारत के मिसाइलों की ये है खासियत

ब्रह्मोसः भारत और रूस द्वारा विकसित दुनिया की सबसे अच्छी क्रूज मिसाइल है. इसकी रेंज 290 किलोमीटर और गति 4.5 मैक है.

आकाश: 700 किलोग्राम वजनी यह मिसाइल जमीन से हवा में मार कर सकने में सक्षम है. यह 25 किलोमीटर के रेंज में किसी भी उड़ती चीज को मार गिराने में सक्षम है.

अग्न‍ि-5: यह इंटर-कॉन्टिनेन्टल बैलिस्टिक मिसाइल है. 5500 किलोमीटर मारक क्षमता वाली इस मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत यह है कि समय आने पर इसकी रेंज का बढ़ाया जा सकता है.

अग्न‍ि-4 : यह काफी हल्की और नई तकनीकों से लैस मिसाइल है. यह 4000 किलोमीटर से अधिक दूरी तक जमीन से जमीन पर मार करने में सक्षम है.

अग्न‍ि-3: एडवांस कम्प्यूटर और नेवीगेशन सिस्टम से लैस यह मिसाइल डेढ़ टन तक पेलोड ले जाने में सक्षम है. यह जमीन से जमीन पर 3500 किलोमीटर दूर वार कर सकती है.

अग्न‍ि-2: अत्याधुनिक नेवीगेशन सिस्टम और तकनीक से लैस यह मिसाइल एक टन का पेलोड ले जाने के साथ ही दो हजार किलोमीटर तक मार कर सकती है.

अग्न‍ि-1: इसे कम मारक क्षमता वाली मिसाइल के तौर पर विकसित किया गया है. यह 700 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है और भारतीय सेना में शामिल हो चुकी है.

निर्भय: भारत की सबसोनिक क्रूज इस मिसाइल में ठोस रॉकेट मोटर बूस्टर के साथ टर्बोफैन इंजन लगा है. इससे इसकी रेंज 800 से 1000 किलोमीटर है. इसे हर मौसम में दागा जा सकता है.

नाग: 4 किलोमीटर रेंज के साथ 42 किलो के वजन वाली यह मिसाइल फायर और फारगेट के आधार पर काम करती है. इससे जमीन से जमीन और हवा से जमीन पर दागा जा सकता है.

First Published: Sep 17, 2019 05:23:48 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो