BREAKING NEWS
  • गुजरात में लड़कियों के मासिक धर्म की जबरन जांच में प्रधानाचार्य, रेक्टर समेत चार गिरफ्तार- Read More »

बारिश के दौरान शख्स के ऊपर गिरी बिजली के Viral Video का सच

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : August 21, 2019 07:03:13 PM
रोमुलस के ऊपर बिजली गिरी तो उनके हाथ से छाता छूट गया

रोमुलस के ऊपर बिजली गिरी तो उनके हाथ से छाता छूट गया (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

अमेरिका के साउथ कैरोलीना से एक बेहद ही हैरान कर देने वाला वीडियो सामने आया है. सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए कुदरत के कहर को देखकर हर कोई हैरान है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो में एक शख्स बारिश के दौरान छाता लेकर एक पार्क में टहल रहा था, तभी उसके ऊपर बिजली गिर गई. रोमुलस ने इस पूरी घटना की वीडियो भी शेयर किया है. इस वीडियो की सच्‍चाई के बारे में AccuWeather के मौसम विज्ञानी जेसी फेरेल ने विस्‍तार से बताया है. फेरेल ने क्‍या कहा उससे पहले हम जान लें कि इस विडियो में है क्‍या.. 

वीडियो में आप देखेंगे कि जब रोमुलस के ऊपर बिजली गिरी तो उनके हाथ से छाता छूट गया. जिसके बाद रोमुलस बहुत ही बुरी तरह से घबरा गए थे. उन्होंने तुरंत अपना छाता उठाया और वहां से भाग गए.

रोमुलस ने इस वीडियो को 16 अगस्त को अपने फेसबुक अकाउंट पर शेयर किया था. वीडियो को अभी तक 2 लाख 48 हजार बार देखा जा चुका है. रोमुलस के साथ घटी इस घटना को उनके 156 दोस्तों ने शेयर भी किया है. इस पूरी आपदा में रोमुलस काफी भाग्यशाली थे कि आसमानी बिजली भी उनका कुछ नहीं कर पाई. ज्यादातर मामलों में देखा जाता है कि ऐसी आसमानी बिजली जहां भी गिरती है, उसे तहस-नहस कर देती है.

इस वीडियो के बारे में AccuWeather Meteorologist Jesse Ferrell कहते हैं कि वीडियो में जो कुछ भी दिख रहा है वह डायरेक्‍ट बिजली गिरने की नहीं है. फेरेल कहते हैं , 'इस आदमी पर सीधे बिजली नहीं गिरी है, लेकिन वह उसके काफी करीब था. वीडियो में दिख रहे पेड़ों की छाया के आधार पर कहता हूं कि एक फ्लैग पोल, फोटो के ऊपरी दाहिने हिस्से में इमारत या पेड़ या फिर ऑफ कैमरा की वजह से उसे झटका लगा था.'

यह भी पढ़ेंःक्षुद्रग्रह पृथ्वी को अंततः मार देगा और हमारे पास अभी तक इससे बचने का कोई उपाय नहीं है: एलोन मस्क

फेरेल ने इस संभावना को भी जोड़ा कि मैकनील को ग्राउंड करंट से झटका लगा होगा, वह भी तब जब बिजली जहां मूल रूप से गिरी होगी. हालांकि इससे व्‍यक्ति को काफी घातक चोट लग सकती है.

यह भी पढ़ेंः अगर करनी है 9 रुपये में विदेश यात्रा तो आपके पास बचे है चंद घंटे

फेरेल ने कहा, "वीडियो कैमरों में आमतौर पर फ्रेम दर होती है जो ऊपर की ओर से दिखाने के लिए बहुत धीमी होती है, जो केवल एक लाइटनिंग स्ट्राइक से पहले माइक्रोसेकंड के लिए मौजूद होती है. उन्‍होंने कहा, "जहाँ तक मुझे पता है, प्रति सेकंड 9,000 फ्रेम पर केवल एक बार तस्‍वीर ऊपर से कैप्‍चर होती है" फेरेल ने कहा कि मैकनील पर कथित तौर पर बिजली गिरने की तस्‍वीर लेने वाला कैमरा लगभग 30 फ्रेम प्रति सेकंड कैप्‍चर करता है.

यह भी पढ़ेंः 9 लोगों के इस परिवार में सभी की जाति है अलग-अलग, मामला जानकर रह जाएंगे दंग

फेरेल कहते हैं कि डैन रॉबिन्सन 30 वर्षों से बिजली गिरने की घटना को पकड़ने के लिए फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी कर रहे हैं, रॉबिन्सन ने एक ब्लॉग पोस्ट में बताया कि वीडियोटैप्ड लाइटिंग आमतौर पर छवि के कम से कम एक फ्रेम में खराबी लाती है.

रॉबिन्सन ने लिखा है, "वीडियो फ्रेम के निचले हिस्से में विरूपण साक्ष्य बिजली के बोल्ट के रूप में दिखाई देता है. स्क्रीन पर इसकी स्थिति के कारण, यह बिजली का बोल्ट ऐसा प्रतीत होता है मानों यह प्रेक्षक / कैमरे के सापेक्ष बहुत ही निकटवर्ती प्रकाश चैनल है." रॉबिन्सन बताते हैं कि कैमरे की शटर की तुलना में तेजी से गिरने वाली बिजली की एक छवि है, जिससे चैनल की छवि फ्रेम के निचले हिस्से में बह सकती है.

First Published: Aug 21, 2019 07:02:36 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो